आजसू के कड़े रुख को देखकर, डैमेज कंट्रोल में जुटी बीजेपी

मिशन 2019 की तैयारी में जुटी बीजेपी के लिए मुश्किलें बढ़ती ही जा रही हैं बिहार के बाद झारखंड में भी एनडीए के सहयोगी दल आजसू ने भी अपने तेवर बदलने शुरू कर दिए हैं। हाल ही में हुए दो विधानसभा सीटों के उपचुनाव के दौरान बीजेपी- आजसू में जो दरार पैदा हुई थी वह अब उभर कर सामने आने लगी है।
हालांकि आजसू के सख्त तेवर को देखते हुए बीजेपी ने नरमी अपनाई है बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुआ ने कहा है कि तमाम गतिरोध के बाद भी बीजेपी और आजसू का चुनावी गठबंधन बरकरार रहेगा। गिलुआ ने एक सवाल के जवाब नें कहा कि कोई मजबूरी वाली बात नहीं है बीजेपी एक राष्ट्रीय दल हैं, इसलिए वह बड़े भाई की भूमिका में है। इसलिए छोटे भाई की हर गलती को माफ़ करना उनका धर्म है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि आजसू के साथ गठबंधन की बात हाईकमान ने की थी। उधर, आजसू ने स्थानीय नीति, भूमि अधिग्रहण सहित राज्य के कई मुद्दों पर बीजेपी से अपने कई सवालों के जवाब मांगी है। बताया जा रहा है कि पिछले दिनों सरकार ने जितने भी फैसले किए उससे आजसू का मनना है कि पार्टी का नुकसान हुआ है लेकिन पार्टी द्वारा बार-बार आगाह किए जाने के बाद भी आजसू की बातें नहीं मानी गई जिससे दोनों ही पार्टियों का नुकसान हुआ है।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *