दलित राजनीति में दूसरे दिन भी उबाल, राजस्थान में MLA के घर फूंके

देश की दलित और आदिवासी राजनीति में दूसरे दिन भी उबाल जारी है. सुप्रीम कोर्ट ने इस मसले पर ओपन कोर्ट में सुनवाई की घोषणा की है ताकि तथ्य सार्वजनिक हो पायें. सोमवार को देश भर एससी-एसटी एक्ट में बदलाव के खिलाफ ज़बरदस्त ग़ुस्सा दिखा था. इस मुद्दे पर बुलाए गए भारत बंद में अलग अलग हिस्से में हिंसा हुई. पथराव हुआ, बसें जलायी गयी, पथराव हुए, कई जगह पुलिस फ़ायरिंग हुई. तक़रीबन एक दर्जन लोगों के मारे जाने की ख़बर है. भारत बंद के दूसरे दिन भी कई जगह से तनाव की सूचना मिल रही है.

मंगलवार को राजस्थान से हिंसा की ख़बरें आ रही हैं. करौली में भीड़ ने दो नेताओं के घर पर अटैक किया है. बताया जा रहा है कि भीड़ ने मौजूदा विधायक राजकुमारी जाटव और पूर्व कांग्रेस विधायक भरोसीलाल जाटव के घरों में आग लगा दी है. हालाँकि इस हमले में अभी किसी के हताहत होने की सूचना नहीं मिली है लेकिन पूरे इलाक़े में तनाव है.

दलित, आदिवासी ऐक्ट में बदलाव के सवाल पर एक तरफ़ राजग जहां बचाव की मुद्रा में दिख रहा है, वहीं विपक्ष हमलावर है. विपक्ष का आरोप है कि सरकार दलित और आदिवासी विरोधी है. विपक्ष का आरोप है कि सरकार अपने अजेंडे की वजह से देश को बाँटने पर तुली हुई है.

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *