सावित्री देवी की मौत भूख से नहीं हुईः सरयू राय

सरकार ने कहा है कि गिरिडीह निवासी सावित्री देवी की मौत भूख से नहीं बल्कि स्वाभाविक कारणों से हुई है। खाद्य, सार्वजनिक वितरण एवं उपभोक्ता मामले विभाग के मंत्री सरयू राय ने आज मीडिया से कहा कि 2 जून 2018 को गिरिडीह जिले के चैनपुर पंचायत निवासी सावित्री देवी की मौत को भूख से हुई मौत के रूप में प्रचारित किया गया जो दुर्भाग्यपूर्ण है।

एडिशनल कलेक्टर की जांच रिपोर्ट को संतोषजनक न पाकर विभाग ने संयुक्त सचिव विनय कुमार राय और अतिरिक्त निदेशक संजय कुमार से स्वतंत्र जांच करायी है। इस जांच रिपोर्ट से स्पष्ट होता है कि सावित्री देवी की मौत भूख से नहीं हुई है। इनकी मौत के कई और कारण हो सकते हैं जिसपर विचार करना जरूरी है।

श्री राय ने यह रिपोर्ट मीडिया से साझा की। उन्होंने कहा कि उनके दोनों पुत्र बाहर काम करने गये थे उनका बयान लिया गया है। घटना के बाद बीडीओ और मार्केटिंग अफसर ने मृतक के परिजनों से मिलकर पोस्टमार्टम कराने की बात कही लेकिन उनके परिजनों ने लिखित रूप से कहा कि वे पोस्टमार्टम नहीं कराना चाहते हैं। इनके परिवार की तरफ से राशन कार्ड बनाने के लिये आवेदन भी नहीं दिया गया था। मृतक की बीमारी का ईलाज भी रिम्स में कराया गया है जिसके कागजात उनके घर से प्राप्त हुए हैं। इसलिये विभाग ने उसी दिन सभी जिलों को निदेश दिया है कि ऐसी परिस्थिति में मौत होने पर मृतक का पोस्टमार्टम अवश्य कराया जाए।

विभाग द्वारा मृतक के पुत्रवधू का स्वास्थ्य जांच कराने पर पाया गया कि वो स्वस्थ हैं। ऐसे में परिवार के एक सदस्य की मौत को भूख से हुई मौत के रूप में अस्पष्ट तथ्यों के आधार पर प्रचारित किया गया। श्री राय ने कहा कि कुछ लोग इस तरह की गलत बातें फैला कर राज्य की छवि खराब कर रहे हैं। चतरा में हुई मौत के मामले में भी दुष्प्रचार किया गया। जबकि उनकी बीमारी से मौत हुई थी।

श्री राय ने यह भी कहा कि अभी भी कई परिवार का राशन कार्ड नहीं है। विभाग द्वारा ऐसे सभी पात्र लोगों को राशन कार्ड उपलब्ध कराने के लिये कार्य किया जा रहा है। कैबिनेट का संकल्प है कि पंचायत प्रतिनिधि ग्रामीणों को राशन कार्ड बनवाने में सहयोग करेंगे। राज्य में वर्तमान समय में 137 से 140 दाल भात केंद्र हैं जहां कोई भी व्यक्ति पांच रुपये में भोजन प्राप्त कर सकता है।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *