NDA के संबित, अर्जुन तो UPA के धीरज साहू का नाम चर्चा में

सूबे में दो राज्यसभा सीटों को लेकर तारीखों का ऐलान हो गया है। सत्तापक्ष और विपक्ष के नेता अपने-अपने तरीके से संभावित उम्मीदवारों को लेकर मंथन करने में जुट गये हैं। 12 मार्च तक नामांकन की अंतिम तिथि को ध्यान में रखते हुए पक्ष और विपक्ष दोनों दलों के वरिष्ठ नेता रेस हो गए हैं। जहां रविवार को सीएम रघुवर दास ने कहा है कि इसके लिए संभावित नामों पर गंभीरता से विचार किया जा रहा है वहीं कहा जा रहा है कि नेता प्रतिपक्ष हेमंत सोरेन इसी मुद्दे पर बातचीत के लिए सोमवार को दिल्ली गए हैं। हालांकि इससे पहले झाविमो सहित कांग्रेस अध्यक्ष डॉ अजय कुमार से इस संबंध में वे बात कर चुके हैं। जानकारों की मानें तो यूपीए खेमे में सबसे बड़े दावेदार के रूप में कांग्रेस नेता धीरज प्रसाद साहू का नाम उभर कर सामने आया है। अंदर खाने कहा जा रहा है कि विपक्ष के कई विधायकों की नजर ऐसे थैलीशाह पर है जो उनकी मुराद पूरी कर सके।

वहीं दूसरी ओर सत्ताधारी खेमे की ओर से भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा और राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री अर्जुन मुंडा का नाम उभर कर सामने आया है। आंकड़ों के हिसाब से देखा जाय तो सत्ताधारी एनडीए के पास 47 विधायक हैं इसके बलबूते वह एक कैंडिडेट आसानी के साथ जीता सकता है लेकिन दूसरे कैंडिडेट के लिए उसके पास न्यूनतम 27 वोट में 20 वोट ही हैं, इस हिसाब से उसे अतिरिक्त 7 वोटों के लिए एक्सट्रा प्रबंध करना होगा। जैसा कि सीएम रघुवर दास के बयान से झलकता है। जिसमें उन्होंने कहा है कि एनडीए 2 उम्मीदवार उतारेगी। हालांकि कयास ये भी लगाए जा रहे हैं कि सत्ताधारी गठबंधन का प्रमुख सहयोगी आजसू, बीजेपी की सुनेगा ये कोई जरूरी नहीं। बहरहाल, ये मान भी लिया जाए तो 2016 की तरह एक बार फिर सत्ताधारी दल की नजर यूपीए के ऐसे विधायकों पर रहेगी जिसे धनबल के आधार पर अपने खेमे में लाया जा सके। कहा जा सकता है कि इसबार फिर राज्यसभा चुनाव में हॉर्स ट्रेडिंग के जरिए वोटों की खरीद-परोख्त होगी।

गौरतलब है कि झारखंड में राज्यसभा की दो सीट तीन मई को रिक्त हो रही है। कांग्रेस से राज्यसभा सांसद प्रदीप बलमुचू और झारखंड मुक्ति मोर्चा के संजीव कुमार का कार्यकाल पूरा हो रहा है।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *