Fodder Scam: लालू की सजा पर भड़के RJD नेता

चारा घोटाले के चौथे मामले में कोर्ट का फैसला आते ही एक बार फिर आरोप-प्रतिरोप का दौर शुरू हो गया है. कोर्ट का फैसले पर राजद सहित अन्य नेताओं की प्रतिक्रिया आने लगी है. राजद नेता और राज्यसभा सांसद मनोज झा ने कहा कि उनके सबूतों को दरकिनार करके उन्हें क्यों सजा दी जा रही है समझ से परे है. लालू की सजा पर मनोज झा ने कड़ी प्रतिक्रिया दी. वहीं दूसरी ओर सजा के एलान के बाद गिरिराज सिंह ने कहा कि लालू को उनकी करनी का फल मिल रहा है. उन्होंने अभी भ्रष्टाचारी पार्टी कांग्रेस से गठबंधन किया है, यह उसी के सरकार के दौरान का मामला है. लालू और राजद के लोग भाजपा पर इसके लिए आरोप मढ़ते हैं.

वहीं राजद नेता शिवानंद तिवारी ने कहा कि एक आदमी को एक अपराध के लिए एक से ज्यादा बार सजा नहीं दी जा सकती. भारत का संविधान यही कहता है. कोई भी कानून का जानकार कहेगा कि लालू यादव के साथ इंसाफ नहीं हो रहा है. उनके साथ न्याय नहीं हो रहा है. सामाजिक न्याय के अगुवा हैं, लालू यादव, इसलिए उन्हें परेशान किया जा रहा है. शिवानंद तिवारी ने लालू की हुई सजा पर सवाल खड़े करते हुए कहा कि चारा घोटाले में हुई जांच भी प्रोपर वे में नहीं हुई है.

वहीं इस मामले पर प्रतिक्रिया देते हुए जदयू के नेता के सी त्यागी ने कहा कि यह केस जब रजिस्टर हुआ था लालू मुख्यमंत्री थे. एचडी देवगौड़ा को प्रधानमंत्री लालू के कहने पर बनाया गया था. सारा सामाजिक न्याय उनके परिवार तक सीमित हो गया. अदालत के फैसलों का स्वागत करते हैं. भगवान उनको लंबी उम्र दे, उनके स्वास्थ्य की हमें चिंता है. उन्होंने कहा कि कोर्ट के फैसले पर राजद के नेता सवाल खड़े करते रहे हैं. यह ठीक नहीं हैं. पहले राजद के वरिष्ठ नेता रघुवंश प्रसाद सिंह ऐसा आरोप लगा चुके हैं.

भाजपा नेता सुशील कुमार मोदी ने कहा कि लालू को सजा उनके किये गये अपराध के आधार पर मिल रही है, इसमें भाजपा की कोई भूमिका नहीं है. राजद के द्वारा अपने कार्यकर्ताओं का मनोबल बढ़ाने के लिए दूसरे पर आरोप मढ़ा जा रहा है. राजद को पता है कि सजा क्यों हो रही है. चारा घोटाला मामले में लालू को सजा के एलान के बाद नेताओं की प्रतिक्रिया आनी शुरू हो गयी है. भाजपा नेता राजीव प्रताप रूडी ने कहा कि यह पुराने पापों का फल है. यह चौथे मामले में सजा सुनायी गयी है. उन्होंने जिस प्रकार बिहार का नुकसान किया है, यह उसकी सजा है. यह अपराध की सजा है.

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *