गैर बराबरी को मिटाने के लिए आरक्षण ज़रूरी: सुशील मोदी

बिहार में आरक्षण का मुद्दा गरमाता जा रहा है. समाज में जब तक गैर बराबरी है आरक्षण जारी रहेगा. आरक्षण का विरोध करने से सामाजिक समरसता नहीं आएगी. यह समझना ज़रूरी है. राजद-कांग्रेस जैसी पार्टियों ने हमेशा दलित वोट बैंक की राजनीति की है, आरक्षण के मसले पर भाजपा की छवि खराब करने की कोशिश करती हैं, जबकि भाजपा हमेशा सबका साथ सबका विकास की नीति पर चलती है. ये बातें उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने बिहार इंडस्ट्रीज एसोसिएशन के सभागार में बुधवार को बाबा साहेब डॉक्टर भीमराव अंबेडकर की पुण्यतिथि समारोह में कही.

डिप्टी सीएम ने कहा कि व्यक्तिगत रूप से हम निजी क्षेत्र में भी आरक्षण के पक्षधर हैं, लेकिन पार्टी के स्तर पर निर्णय लिया जाना बाकी है. बाबा साहेब को जिस तरह संघर्ष करना पड़ा आज वैसी स्थिति नहीं हैं. लेकिन यह भी सच्चाई है कि अभी एसटी-एससी वर्ग के लोग अपने बलबूते लोकसभा व विधानसभा जीतकर नहीं पहुंच पाएंगे. आरक्षण ना होने के कारण राज्य सभा व विधान परिषद में दलितों की संख्या बहुत कम है.

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *