रामराज नहीं ये रावण राज है : हेमंत सोरेन

रघुवर सरकार के खिलाफ झामुमो आर- पार की लड़ाई की मूड में है। सरकार की नीतियों अनुसूचित भूमि अर्जन, पुनर्वासन, पुर्नव्यवस्थापन में उचित प्रतिकार और पारदर्शिता अधिकार अधिनियम 2013 में संशोधन के विरोध में पार्टी के हजारों नेता और कार्यकर्ता 14 अक्टूबर को सड़क पर उतरे। नेता प्रतिपक्ष हेमंत सोरेन कहा कि सरकार रावण की तरह है। इसके 10 नहीं बल्कि 10 हजार सिर हैं। इस सरकार का दमन करना जरूरी है। झामुमो ने इसकी तैयारी कर ली है। भाजपा के मिशन 2019 का जवाब दिया पूरजोर तरीके से जाएगा।

उन्होंने कहा कि रामराज की बात करने वाली सरकार में रावण राज कायम हैं। आदिवासियों और मूलवासियों के पीठ में रघुवर सरकार ने छूरा घोंपने का काम किया है। उन्होंने सुदेश महतो पर हमला बोलते हुए कहा कि आजसू भी सरकार के साथ मिलकर राज्य को लूटने में लगी है। यदि ऐसा ही रहा तो आनेवाले दिनों में यहां के मूलवासी यहां रहने लायक नहीं रहेंगे। रघुवर सरकार अंग्रेजों से भी ज्यादा गरीबों का शोषण कर रही है।

झामुमो नेता कुणाल षाड़ंगी ने कहा कि यहां की जमीन को सरकार विश्व के बाजार में बेच रही है और विश्वास की बात करती है। रांची से जमशेदपुर की सड़क बन नहीं पायी है तो ऐसे में कौन उद्योगपति यहां इनवेस्ट करना चाहेगा। वहीं योगेन्द्र महतो ने कहा कि सरकार अगर नहीं चेती तो फिर से उलगुलान होगा।

झामुमो नेता जगरनाथ महतो ने कहा कि सरकार ने जितनी भी योजनायें लायी हैं वे सभी राज्य के खिलाफ हैं। यहां रहने वाले आदिवासियों और मूलवासियों के खिलाफ हैं। मोमेंटम झारखंड, डोभा निर्माण, इन सभी के नाम पर लूट हुई है। भूमि अधिग्रहण बिल और स्थानीय नीति का बिल यदि वापस नहीं होगा तो पार्टी सदन नहीं चलने देगी।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *