‘अयोध्या में बनेगा राम मंदिर, लखनऊ में सबसे बड़ी मस्जिद’

राम जन्म भूमि न्यास के कार्यकारी अध्यक्ष डॉ राम विलास वेदांती ने दावा किया है कि अयोध्या विवाद के पक्षकारों ने मंदिर विवाद को आपसी समझौते से हल करने का फार्मूला आपसी सहमति से निकाल लिया है। वेदांती ने कहा है कि कुछ अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार संगठन की मध्यस्थता से आपसी सहमति बन गई है। इसके तहत लखनऊ में दुनिया की सबसे बड़ी मस्जिद बनाई जाएगी, जबकि अयोध्या में रामलला का भव्य मंदिर बनेगा। उन्होंने यह भी दावा किया कि मस्जिद बाबर के नाम पर नहीं होगी।

राम विलास वेदांती ने इलाहाबाद में एक कार्यक्रम में शिरकत करने के बाद पत्रकारों से बातचीत में यह दावा किया कि दो अक्टूबर से पहले सुप्रीम कोर्ट में आउट ऑफ कोर्ट सेटेलमेंट होने का हलफनामा दाखिल कर इस पर अदालत की मुहर भी लगवा ली जाएगी।

वेदांती ने कहा कि उनके इस समझौते की वजह से चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा अपने कार्यकाल में ही अयोध्या में मंदिर बनने के फार्मूले पर अदालत की सहमति दे देंगे। बता दें कि जस्टिस दीपक मिश्रा इसी साल दो अक्टूबर को रिटायर हो रहे हैं।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *