गुस्से की राजनीति से लड़ेंगे, उसे हराएंगेः राहुल गांधी

राहुल गांधी ने शनिवार को औपचारिक तौर पर कांग्रेस की कमान संभाल ली. पार्टी मुख्यालय में अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की सेंट्रल इलेक्शन अथॉरिटी के प्रमुख एम रामचंद्रन ने उन्हें कांग्रेस अध्‍यक्ष चुने जाने का सर्टिफिकेट दिया गया. इस मौके पर पूर्व पीएम मनमोहन सिंह और सोनिया गांधी भी मौजूद रहे. कांग्रेस अध्यक्ष के रूप में अपने पहले भाषण में राहुल गांधी ने कहा कि कांग्रेस ऐसा पार्टी बने जिसका जनता से सीधा संवाद हो. उन्होंने कहा कि 13 साल पहले सोनिया गांधी और मनमोहन सिंह से राजनीति सीखी.

राहुल गांधी ने कहा बीजेपी के लोग तोड़ते है, हम लोगों को जोड़ते हैं. राहुल गांधी ने कहा कि आज राजनीति लोगों को कुचलने के लिए हो रही है. राहुल गांधी ने कहा कि बीजेपी के लोग देश में आग लगाने का काम कर रहे है, उन्होंने कहा कि देश में खानपान को लेकर हत्याएं हो रही हैं. राहुल गांधी ने कहा कि बीजेपी के लोग देश में आग फैलाने में जुटे है. राहुल गांधी ने कहा कि हम हर हिंदुस्तानी की आवाज की सुरक्षा करेंगे. राहुल गांधी ने कहा, आज मूल्यों को कुचला जा रहा है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस देश को 21वीं सदी में लेकर गई. लेकिन आज जो प्रधानमंत्री है वह हमें मध्ययुगीन भारत में ले जाना चाहता है.

कांग्रेस के नए अध्यक्ष ने कहा कि हम बीजेपी को अपने भाई-बहन की तरह मानते हैं, लेकिन हम उनके विचार से सहमत नहीं है. वह (बीजेपी) आवाजों को दबाते हैं, लेकिन हम बोलने देना चाहते है. वह हमें नीचा दिखाते हैं लेकिन हम उनका सम्मान करते है और अपना बचाव करते है. राहुल गांधी ने अध्यक्ष पद संभालने पर कहा, 'इस पद को ग्रहण करते समय विनम्रता के साथ यह कहना चाहता हूं कि मैं हमेशा अपनी पार्टी के दिग्गजों के पदचिन्हों पर चलूंगा'.

इसके पहले राहुल गांधी को पार्टी की कमान सौंपे जाने के बाद सोनिया गांधी ने काफी भावुक भाषण दिया. सोनिया ने अपने भाषण में इंदिरा गांधी की हत्या और राजीव गांधी हत्या को याद करते हुए कहा कि मैं अपने परिवार को राजनीति से दूर रखना चाहती थी. उन्होंने कहा कि राजीव जी की हत्या ने मेरी जिंदगी को बदला डाला. मेरे पति के ऊपर कांग्रेस की बड़ी जिम्मेदारी थी. मैं अपने पति की जिम्मेदारी को पूरा करने के लिए राजनीति में आई. उन्होंने कहा कि 20 साल पहले जब मैं कांग्रेस की अध्यक्ष बनीं तब घबरा रही थी. उन्होंने कहा कि कांग्रेस के लाखों कार्यकर्ताओं की वजह से पार्टी को आगे बढ़ाया. उन्होंने कहा कि हमारी पार्टी ने 10 तक मनमोहन सिंह जी के नेतृत्व में प्रगतिशील सरकार दी.

सोनिया गांधी ने कहा आज हमारे संवैधानिक मूल्यों पर हमला हो रहा है. सोनिया गांधी ने कहा आपने इस नेतृत्व के लिए राहुल गांधी को चुना है, राहुल मेरा बेटा है, मैं उनकी तारीफ नहीं करती हूं. राहुल ने बचपन से ही हिंसा का दुख झेला है. मुझे राहुल की सहनशीलता पर गर्व है. सोनिया गांधी ने कहा मुझे भरोसा है कि युवा नेतृत्व कांग्रेस को आगे लेकर जाएगा. उन्होंने कहा कि मुझे राहुल के धैर्य और सहनशीलता पर पूरा भरोसा है.
राहुल गांधी के कांग्रेस अध्यक्ष चुने जाने के औपचारिक ऐलान के बाद पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह अपने भाषण में कहा कि आज सोनिया जी के बाद राहुल गांधी को कांग्रेस की कमान सौंपी जा रही है, हम सोनिया जी के नेतृत्व को सलाम करते है. उन्होंने कांग्रेस को एकजुट करने का काम किया.

उल्‍लेखनीय है कि राहुल गांधी के कांग्रेस अध्यक्ष बनने को लेकर सोनिया गांधी ने शुक्रवार को बड़ा बयान दिया था. उनके संसद परिसर में पहुंचने पर मीडिया द्वारा राहुल गांधी के कांग्रेस का अध्यक्ष बनाए जाने पर पार्टी में उनकी भूमिका को लेकर जब सवाल किया गया तो सोनिया गांधी ने जवाब देते हुए कहा कि अब उनका रोल खत्म हो चुका है. उन्होंने आगे कहा, ''मैं रिटायर हो जाऊंगी''.

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *