अमित शाह के बेटे की कहानी सबको सुना रहे हैं राहुल

-गुजरात में मोदी के हथियार से भाजपा पर वार कर रहे राहुल

अमित शाह के बेटे की कंपनी के टर्नओवर को लेकर एक खबर छपने के बाद कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ काफी आक्रामकता दिखा रहे हैं। राहुल के सियासी वार इस बार पहले की तुलना में ज्यादा धारदार हैं। एक और बात राहुल के इन नए हमलों में खास है और वो है पीएम मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह पर हमले के लिए इस्तेमाल शब्दों का चयन। राहुल बीजेपी पर अब उसी के हथियार से वार करने की कोशिश कर रहे हैं।

राहुल का ये अवतार न सिर्फ पहले से ज्यादा मुखर है बल्कि उसकी भाषा लच्छेदार है, जो राजनीतिक मुहावरे भी गढ़ने लगा है। रविवार को जब अमित शाह के बेटे की कंपनी के टर्नओवर को लेकर खबर सामने आई तो राहुल ने ट्वीट किया कि 'आखिरकार हमें नोटबंदी का एकमात्र लाभार्थी मिल गया। यह आरबीआई, गरीब या किसान नहीं है। यह नोटबंदी के शाह-इन-शाह हैं। जय अमित।'
साफ है कि बीजेपी अध्यक्ष को सपाट शब्दों में घेरने के बजाय राहुल ने भाषा कौशल और व्यंग्य का सहारा लिया। रविवार को अमित शाह को निशाने पर लेने के बाद सोमवार को राहुल ने सीधे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला बोला। उन्होंने ट्वीट किया 'मोदीजी, जय शाह- 'जादा' खा गया। आप चौकीदार थे या भागीदार? कुछ तो बोलिए।'

जय अमित शाह के बेटे का नाम है और शाहजादा लिखकर राहुल गांधी ने बीजेपी खासकर पीएम मोदी को उनके वे शब्द याद दिला दिए जिसमें मोदी राहुल को शहजादे कहकर उनपर हमला बोला करते थे। यानी पीएम मोदी के अपने ऊपर फेंके गए शब्दबाण को राहुल ने उन्हीं की ओर वापस कर दिया, वो भी पूरी रचनात्मकता के साथ।

राहुल गांधी इन दिनों गुजरात के दौरे पर हैं और चुनावी रैलियों को संबोधित कर रहे हैं। सोमवार को वे सरदार पटेल की जन्मस्थली नाडियाड में थे। यहां एक सभा को संबोधित करते हुए उन्होंने पीएम मोदी पर हमला बोलते हुए कहा कि पीएम खुद को चौकीदार बताते थे, अब कहां गया वो चौकीदार। राहुल के तेवरों से साफ है कि कांग्रेस अमित शाह के बेटे की कंपनी का मुद्दा गुजरात चुनाव में जमकर भुनाएगी।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *