जय शाह को बचाने के लिए टाल दिया संसद सत्रः राहुल गांधी

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर लगातार हमले कर रहे हैं। गुजरात से लेकर केंद्र सरकार की नीतियों पर सवाल उठा रहे हैं। अपनी गुजरात यात्रा के दूसरे दिन कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने अमरेली में रैली को संबोधित किया. राहुल गांधी ने कहा कि कुछ 4-5 लोग आंदोलन नहीं कर रहे हैं क्योंकि वे हवाई जहाज में उड़ते हैं, ये लोग मोदी जी के मित्र हैं. राहुल ने कहा कि यह वह लोग हैं जिनकी महिलाओं की पिटाई नहीं हुई है, उनपर गोली नहीं चलाई गई है. राहुल ने कहा कि अमित शाह गुजरात चला रहे हैं, विजय रूपाणी जी को अमित शाह अपने रिमोट से चला रहे हैं. जब चाहे चैनल बदल देते हैं.

राहुल ने यहां रैली में आए हुए लोगों से पूछा कि मूंगफली का क्या दाम मिलता है आप को कांग्रेस पार्टी हजार देती थी अभी आपको क्या मिल रहा है 500 मोदी जी ने वादा किया था. उन्होंने कहा कि यही कपास का हाल है, यहां आकर मोदी जी ने कहा था कि मुझे आप देश का प्रधानमंत्री बनाओ मैं आपको कपास का 2000 दूंगा पर ऐसा कुछ नहीं हुआ मोदी जी अपने भाषण में यह क्यों नहीं कहते हैं.

राहुल ने वार करते हुए कहा कि संसद का शीतकालीन सत्र नहीं हो रहा है और गुजरात चुनाव से पहले शुरू भी नहीं होगा. वह इसलिए क्योंकि पहला कारण जय शाह है, मोदी नहीं चाहते गुजरात चुनाव से पहले जय शाह पर बात हो और दूसरा कारण राफेल डील, रक्षा मंत्री गोवा में मछली खरीद रहे हैं और पीएम मोदी ने फ्रांस जाकर डील बदल दी.

राहुल ने मोदी पर हमला करते हुए कहा कि नोटबंदी करके पूरे देश में लाइन लगवा दी. मोदी जी ने कहा, ''भाइयों बहनों 500 और ₹1000 का नोट में रद्दी कर रहा हूं क्योंकि मैं देश का प्रधानमंत्री हूं। मोदी जी ने हिंदुस्तान के सब चोरों का काला धन सफेद कर दिया और आपको लाइन में लगा दिया. क्या आपको 15 लाख मिला?''.
आप बताओ क्या गुजरात में कोई काम बिना भ्रष्टाचार के होता है? क्या बिना घूस दिये आप बच्चों को कॉलेज भेज सकते हो? 50 हज़ार को 80 हज़ार करोड़ में अमित शाह के पुत्र जय शाह ने बदल दिया फिर कंपनी बंद कर दी और मोदी चुप हैं.

बता दें कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के बुधवार को सोमनाथ मंदिर दौरे से एक बड़ा विवाद पैदा हो गया. बीजेपी ने उनकी आस्था को लेकर सवाल उठाए, जबकि कांग्रेस ने बीजेपी पर ओछी राजनीति करने का आरोप लगाया. कांग्रेस ने कहा कि राहुल गांधी हिंदू भक्त हैं. यह विवाद राहुल गांधी के मीडिया समन्वयक मनोज त्यागी के गैर हिंदुओं के लिए बने रजिस्टर में हस्ताक्षर करने से पैदा हुआ.

इसके बारे में कांग्रेस ने कहा है कि इस रजिस्टर में बाद में राहुल गांधी और अहमद पटेल का नाम जोड़ा गया. इस दौरे के कुछ समय बाद सोशल मीडिया पर मनोज त्यागी के हस्ताक्षर वाला रजिस्टर घूमने लगा, जिसमें राहुल गांधी व अहमद पटेल का नाम बाई तरफ था. इस कहानी के साथ भाजपा सामने आई कि राहुल गांधी ने खुद को एक गैर-हिंदू घोषित कर दिया है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से गुजरात में बीजेपी के 22 सालों का हिसाब मांगने के क्रम में राहुल गांधी ने गुरुवार को एक और ट्वीट किया. राहुल ने इस ट्वीट में गुजरात पर कर्ज को लेकर नरेंद्र मोदी से सवाल पूछा है. कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कहा है कि 1995 में गुजरात पर 9,183 करोड़ रुपये का कर्ज था और 2017 में गुजरात पर 2,41,000 करोड़ का कर्ज है. यानी हर गुजराती पर 37 हजार रुपये का कर्ज है. इन आंकड़ों को सामने रखते हुए राहुल गांधी ने पूछा है कि नरेंद्र मोदी के वित्तीय कुप्रबंधन और पब्लिसिटी की सजा गुजरात की जनता क्यों चुकाए?

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *