रघुवर गए पीएम से मिलने, सरगर्मी तेज़

-अचानक नहीं गए सीएम, पहले से तय था कार्यक्रम

झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास गुरुवार सुबह दिल्ली क्या गए, प्रदेश में सियासी चर्चा का बाज़ार गर्म हो गया। भाजपा से लेकर विपक्षी दलों के नेता तक सभी अपने अपने तरह से राजनीति की व्याख्या करने लगे, लगा जैसे सरकार अब गयी, तब गयी। हालांकि दोपहर बाद यह आधिकारिक तौर पर बताया गया कि सीएम का दिल्ली जाना पहले से तय था। कई अन्य राज्यों के मुख्यमंत्री को भी दिल्ली बुलाया गया था।

दरअसल 22 सितम्बर को दुमका में गृहमंत्री राजनाथ सिंह का कार्यक्रम है, जहां मुख्यमंत्री को भी मौजूद रहना है। दुमका में ही एक तरह से 1000 दिन के कार्यक्रम की पूर्णाहुति भी है। इसलिए जब 21 को मुख्यमंत्री दिल्ली गए तो सियासी बदलाव की कहानियां फिजाओं में तैरने लगी।

लेकिन समझने की बात यह है कि आखिर हंगामा क्यों बरपा! कुछ तो है ऐसा कि मुख्यमंत्री दिल्ली जाते हैं प्रधानमंत्री से मिलने और हल्ला फ़ैल जाता है कि सत्ता परिवर्तन होने वाला है। यानि रघुवर का दिल्ली दरबार भी लगता है हिल रहा है। ऐसा अगर है तो रघुवर के लिए स्थिति चिंताजनक है।

अमित शाह के झारखंड दौरे के दौरान हालांकि अमित शाह सार्वजनिक तौर पर मुख्यमंत्री की पीठ थपथपाते रहे लेकिन अर्जुन मुंडा के साथ बंद कमरे में हुई उनकी बातचीत के बाद मुंडा हर कार्यक्रम में मजबूती से दिखे। अब शाह ने दिल्ली में क्या रिपोर्ट दी, उसके आधार पर ही रघुवर का भविष्य तय होगा। रघुवर की कप्तानी में ही चुनाव होंगे या ये हिट विकेट हो जायेंगे, यह भी अमित शाह की रिपोर्ट पर ही निर्भर है।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *