संथाल की सियासत में रघुवर दास का मास्टर स्ट्रोक

मिशन 2019 की तैयारी में जुटे सियासी दलों के लिए संताल परगना काफी अहम है। इस इलाके से सभी दलों के उम्मीदें जुड़ी हुई हैं। इसीलिए सबों की नजरें भी इस क्षेत्र के सीटों पर टिकी हैं। इसे ध्यान में रखते हुए सत्ताधारी पार्टी बीजेपी भी मैदान में उतर गई है और जमीनी स्तर पर कार्यकर्ताओं से फीडबैक लिया जा रहा है। इसी के मद्देनजर दुमका में आज सभी 18 विधानसभा क्षेत्रों से प्रमुख कार्यकर्ताओं को बुलाया गया है। मुख्यमंत्री रघुवर दास सहित इस क्षेत्र के तीनों मंत्री और सभी क्षेत्र से 7-7 प्रमुख कार्यकर्ता कार्यक्रम में रहेंगे।

मुख्यमंत्री रघुवर दास और संगठन महामंत्री धर्मपाल सिंह इस कार्यक्रम में सभी क्षेत्रों के कार्यकर्ताओं से इलाके का मिजाज जानने की कोशिश करेंगे।
सियासी जानकारों की मानें तो बीजेपी संथाल की सभी सीटों पर जीत का परचम लहराने की कोशिश कर रही है और इसके लिए पार्टी की ओर से सत्ता में आने के साथ ही कवायद शुरू कर दी गई थी। संथाल परगना के लोगों को कई बड़ी परियोजनाओं की सौगात दी गई है। पीएम मोदी से लेकर सीएम रघुवर दास तक इस इलाके का कई बार दौरा कर चुके हैं।

इन सब के बीच संथाल परगना क्षेत्र में विपक्षी दलों ने भी अपने संघर्ष के बूते सियासी जमीन ठोस करने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ी है। झामुमो, झाविमो और कांग्रेस की ओर से लगातार प्रदर्शन और रैलियां की गई हैं और सरकार की नीतियों के विरोध में जनता को साथ लाने की कोशिश की गई है।

देखा जाय तो तीन लोकसभा सीटों में से अभी केवल गोड्डा सीट पर बीजेपी का कब्जा है, जबकि दुमका और राजमहल सीट झामुमो के पास है। इन सीटों पर बीजेपी कड़ी मशक्कत कर रही है लेकिन महागठबंधन होने के बाद उसके लिए इन सीटों पर जीत दर्ज करना उसके लिए किसी भी हाल में आसान नहीं होगा। जहां तक विधानसभा की सीटों पर प्रदर्शन का सवाल है, अभी संथाल परगना की 18 में से 7 सीटों पर बीजेपी का कब्जा है। वहीं 6 पर झामुमो और अन्य सीटों पर कांग्रेस और जेवीएम काबिज हैं। सारठ की सीट को भी बीजेपी अपनी सीट मानकर चल रही है,जबकि यह झाविमो की सीट थी। बीजेपी को विपक्षी दलों खासकर झामुमो, कांग्रेस, झाविमो और राजद से टक्कर लेना होगा। महागठबंधन की स्थिति में किसी भी सीट पर बीजेपी के लिए जीत की राह आसान नहीं है।
हालांकि, ये देखना बेहद दिलचस्प होगा कि विपक्षी दल किस प्रकार 18 सीटों के लिए तालमेल करते हैं। कई सीटों पर पेंच फंस सकता है।
लोकसभा सीट - तीन - दुमका, गोड्डा और राजमहल

किस पर किसका कब्जा –
सीट ----- सांसद --- पार्टी
दुमका - शिबू सोरेन - झामुमो
राजमहल - विजय हांसदा -झामुमो
गोड्डा - निशिकांत दुबे - भाजपा

18 विधानसभा सीटों की दलगत स्थिति
सीट ---- विधायक - पार्टी
दुमका - डॉ. लुईस मरांडी - भाजपा
जामा - सीता सोरेन - झामुमो
नाला - रविंद्रनाथ महतो - झामुमो
जामताड़ा - इरफान अंसारी - कांग्रेस
शिकारीपाड़ा - नलिन सोरेन - झामुमो
सारठ - रणधीर सिंह - झाविमो अब भाजपा में
राजमहल - अनंत ओझा - भाजपा
बरहेट - हेमंत सोरेन - झामुमो
बोरियो - ताला मरांडी - भाजपा
लिट्टीपाड़ा - साइमन मरांडी - झामुमो
महेशपुर - प्रो.स्टीफन मरांडी - झामुमो
पाकुड़ - आलमगीर आलम - कांग्रेस
देवघर - नारायण दास - भाजपा
मधुपुर - राजपालिवार - भाजपा
गोड्डा - अमित मंडल - भाजपा
पोड़ैयाहाट - प्रदीप यादव - झाविमो
महगामा - अशोक भगत - भाजपा
जरमुंडी - बादल पत्रलेख - कांग्रेस

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *