कांग्रेसी नेता का प्रचार कर रही रघुवर सरकार

-भगवान बिरसा के साथ लगाई गयी स्व. कार्तिक उरांव की तस्वीर
-रांची से दिल्ली तक भाजपा में उबाल
-लखटकिया प्रचार एजेंसी ने डुबो दी सरकार की साख

धर्मांतरण बिल पर राज्य में विपक्ष की आलोचना झेल रही रघुवर दास सरकार ने सभी अखबारों में 11 अगस्त को फुल पेज का विवादित विज्ञापन जारी किया है। इसमें भगवान बिरसा के साथ पूर्व कांग्रेसी नेता स्व. कार्तिक उरांव की तस्वीर लगाई गई है। विज्ञापन में गांधी जी के एक उद्धरण को तोड़-मोड़ कर लिखा गया है, जिसमें आदिवासियों को अबोध, अज्ञानी, गरीब, अनपढ़ तथा गाय की तरह मूक बताकर आदिवासी भाइयों का मजाक बनाया गया है। यह विज्ञापन सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के द्वारा जारी किया गया है।

राज्य के समाचार पत्रों ने इस विज्ञापन को प्रमुखता से छापा गया है। इस विज्ञापन से प्रदेश के भाजपा नेता और कार्यकर्त्ता बेहद स्तब्ध हैं। उन्हें समझ में नहीं आ रहा कि कैसे सरकार ने कांग्रेस नेता का प्रचार कर गंभीर राजनीतिक गलती कर दी। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह, राम माधव तथा संघ के वरिष्ठ पदाधिकारियों को भी भाजपा के ही लोगों ने इस विज्ञापन की कटिंग भेजी है। सोशल मीडिया पर तो सरकार की थू-थू हो ही रही है, कई जगह कई संगठनों ने विरोध प्रदर्शन भी शुरू कर दिया है।

कांग्रेस भी इस सरकार के विज्ञापन में अपने नेता का नाम घसीटे जाने पर हैरान है साथ ही जिस तरह की अमर्यादित भाषा का इस्तेमाल गांधी जी को कोट करके किया गया है, उसे कांग्रेस तथा अन्य विपक्षी नेता गांधी का अपमान बता रहे हैं। कई आदिवासी नेताओं ने आदिवासी अपमान के खिलाफ कोर्ट जाने की तैयारी भी कर ली है।

इस विज्ञापन को मात्र एक लाख कैपिटल की विवादित पीआर कंपनी इंडिया रिपोर्ट कार्ड मीडिया प्राइवेट लिमिटेड ने बनाया है, जिसे मुख्यमंत्री तथा विभागीय अधिकारियों ने नियम विरुद्ध नॉमिनेशन के आधार पर 14 करोड़ से अधिक में सरकार की ब्रांडिंग का काम दिया है।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *