बिजली दरों पर बेवजह हंगामा कर रहा है विपक्षः BJP

बीजेपी के प्रदेश प्रवक्ता प्रतुल शाहदेव ने विपक्षी दलों पर तंज करते हुए कहा कि वे सिर्फ जनता की आंखों में धूल झोंकने के लिए बिजली की प्रस्तावित दरों को लेकर हंगामा कर रहे हैं। ये दरें सब्सिडी के पहले की हैं। मुख्यमंत्री ने साफ घोषणा की है कि उपभोक्ताओं को सीधे सब्सिडी का लाभ मिलेगा। अगले दो-तीन दिन के भीतर सब्सिडी की दरों की भी घोषणा हो जाएगी। उसके बाद ही असली दरों का पता चलेगा उन्होंने कहा कि रघुवर सरकार के समय विद्युत क्षेत्र में बड़े पैमाने पर सुधार चल रहा है, सैकड़ों ग्रिड स्टेशन बनाए गए हैं। ट्रांसमिशन लाइन दुरुस्ती किए गए हैं। बड़े शहरों में अंडरग्राउंड केबलिंग का भी काम चल रहा है। जिस समय हेमंत सोरेन के नेतृत्व वाली सरकार थी उस समय बिजली सुधारों पर पूरे तरीके से विराम लगा दिया गया था।

श्री शाहदेव ने कहा झारखंड में अब भी बिजली बिहार, महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, उड़ीसा और दिल्ली की तुलना में बहुत सस्ती है। उन्होंने कहा कि प्रस्तावित दरों में सब्सिडी की घोषणा के बाद बड़ी कटौती होगी। लेकिन विपक्षी दलों को अपनी राजनीतिक रोटी सेकनी है तो वह अंतिम टैरिफ का थोड़े ही इंतजार करेंगे। उन्होंने कहा कि ओडिशा में शहरी क्षेत्रों में 5.70 रुपए प्रति यूनिट तक का टैरिफ है। छत्तीसगढ़ में यह बढ़कर 7.45 रुपए प्रति यूनिट हो जाता है। महाराष्ट्र में शहरी इलाकों में अधिकतम टैरिफ वन 13.69 एपए प्रति यूनिट है। दिल्ली में अधिकतम टैरिफ 8.75 रुपया प्रति यूनिट है। बिहार के ग्रामीण इलाकों में अभी अधिकतम टैरिफ 6.25 रुपए प्रति यूनिट है और शहरी इलाकों में अधिकतम टैरिफ 8 रुपए प्रति यूनिट है। लेकिन रघुवर सरकार झारखंड में आम आदमी के हित का सोचती है और शीघ्र पूर्व की घोषणा के अनुसार सब्सिडी की घोषणा करके रेट में कटौती होगी। अभी रांची में अंडरग्राउंड केबलिंग के काम के कारण बिजली की समस्या हो रही है। दूसरे शहरों में ट्रांसमिशन और ग्रिड के कार्यों को पूरा करने के कारण भी समस्या आ रही है। यह तात्कालिक समस्या है। अगले दो-तीन महीने में पूरा काम हो जाने के बाद पूरे प्रदेश में विद्युत आपूर्ति दुरुस्त हो जाएगी।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *