राहुल की ताजपोशी लोकतंत्र का मजाकः भाजपा

भाजपा प्रवक्ता प्रतुल शाहदेव कहा है कि ने राहुल गांधी की ताजपोशी यह साबित करता है कि कांग्रेस पार्टी में लोकतांत्रिक मूल्यों की कोई जगह नहीं है। कांग्रेस पार्टी लोकतांत्रिक प्रक्रिया के ओवरकोट से वंशवाद के कंकाल को ढकने की कोशिश कर रही है। लेकिन जनता यह जानती है कि यह सब दिखावा है। कांग्रेस पार्टी में गांधी टाइटल के अलावा कोई दूसरा नाम नहीं चलता। राहुल गांधी की ताजपोशी कांग्रेस के इतिहास के ताबूत की अंतिम कील साबित होगी। 

वहीं इस मौके पर भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता दीनदयाल बर्नवाल ने कहा कि विपक्षी नेता बाबूलाल मरांडी और हेमंत सोरेन उग्रवादियों की मौत पर राजनीति न करें। जब पुलिस की जांच में यह साबित हो चुका है कि मोती लाल बास्के उग्रवादी के सहयोगी के रूप काम करता था तो फिर नए सिरे से अचानक दोनों विपक्ष नेता को धरना देने की कैसे जरुरत पड़ गई। क्या कभी इन नेताओं ने जवानों और पुलिस की मौत पर भी धरना दिया है। जब उग्रवाद अंतिम सांसे गिन रही है तो उसे फिर से ऑक्सीजन देने का कार्य ये विपक्षी दल क्यों कर रहे हैं। इसके पीछे की मंशा समझना आवश्यक है।

प्रदेश प्रवक्ता ने कहा कि मुख्यमंत्री के द्वारा लगातार तीसरे वर्ष बजट से पूर्व प्रमंडलीय स्तर पर संगोष्ठी करके जनता की राय करने की निर्णय स्वागत योग्य है। झारखंड में बजट जनता की राय से फील्ड में जाकर बनता है ना कि एयर कंडीशन कमरों में बैठ कर। झारखंड उन चुनिंदा प्रदेशों में है जहां आम जनता, मजदूर, किसान, महिला, बुद्धिजीवी सबों की राय से बजट बनता है। डोभा का उदाहरण देते हुए उन्होंने कहा कि इसका आईडिया इन्हीं संगोष्ठियों से निकल कर आया था और आज अपनी सफलता के कारण इंटरनेशनल बिज़नेस स्कूल का केस स्टडी भी बना। राज्य सरकार उन लोगों को पुरस्कृत भी करती है जिनके सुझाव सबसे अच्छे होते हैं और जिन्हें अमल में लाया जाता है।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *