कर्नाटक में तेज हो चला सियासी घमासान!

कर्नाटक विधानसभा चुनाव को लेकर सियासी पारा चढ़ने लगा है, सूबे में महज 10 दिन बचे हैं और इसे देखते हुए बीजेपी और कांग्रेस एक-दूसरे पर जोरदार हमले कर रहे हैं। कांग्रेस जहां एक ओर बीजेपी पर सांप्रदायिकता का आरोप लगा रही है वहीं बीजेपी ने सिद्धारमैया पर भ्रष्टाचार में लिप्त होने का आरोप मढ़ा है। इऩ सब के बीच बीजेपी के स्टार प्रचारक पीएम मोदी के बाद यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ भी कर्नाटक पहुंच रहे हैं कहा जा रहा है कि 6 दिन में धुआंधआर 2 दर्जन सभाएं करेंगे।

उधर, अमित शाह कर्नाटक फतह की रणनीति बनाने में दिन-रात जुटे हुए हैं। इसी स्ट्रैटजी के तहत पीएम मोदी और अमित शाह के चुनाव प्रचार में उतरने के बाद कर्नाटक में अपने तीसरे स्टार प्रचारक योगी आदित्यनाथ को भी झोंकने की तैयारी कर ली है। दूसरी ओर, गुरुवार को ही कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी भी चुनाव प्रचार के लिए कर्नाटक जाने वाले हैं। वहीं कांग्रेस के लिए सपा के अखिलेश यादव और राजद के तेजस्वी यादव भी प्रचार करने पहुंचने वाले हैं।

जानकारों की मानें तो भटकल और तटीय कर्नाटक जैसे संवेदनशील इलाकों में योगी की सभाएं ज्यादा लगाई गई हैं, ये वो इलाके हैं जो न सिर्फ सांप्रदायिक रूप से संवेदनशील हैं बल्कि यहां नाथ संप्रदाय के लोगों की तादाद भी काफी ज्यादा है। इस चुनाव प्रचार के दौरान उनकी कोशिश रहेगी कि साधु, संतों और महंतों को भी अपने पक्ष में किया जाए। वहीं योगी जनसभाओं के अलावा कई साधुओं से भी मिलेंगे। योगी आदित्यनाथ गौड़ा, लिंगायत और नाथ संप्रदाय की साधु और महंतों से अलग से मिलेंगे और उनका आशीर्वाद भी लेंगे। अपने इस यात्रा के दौरान वह चिकमंगलूर के मठ में रुकेंगे।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *