पीएम पश्चिम चंपारण में गरजे, कहाः नीतीशजी ने लालटेन हटाकर LED बल्ब लगाया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पश्चिम चम्पारण के रामनगर में विजय संकल्प रैली को संबोधित किया। जहां उन्होंने मंच को संबोधित करते हुए सीएम नीतीश कुमार की जम कर तारीफ की उन्होंने कहा कि नीतीश जी ने बिहार के घरों से लालटेन हटाकर एलईडी बल्ब की दूधिया रोशनी फैला दि है।

उन्होंने कहा कि चंपारण की धरती स्वच्छता को लेकर प्रेरित होने की धरती है। कांग्रेस,आरजेडी और उनके साथियों ने इस धरती को साथ धोखा किया है। बिहार के सपनों को तोड़ा गया है। लेकिन आप लोगों ने महामिलावटी लोगों की ताकत बढ़ने नहीं दी। बिहार के लोग इनके सामने चट्टान बन गए।

पीएम ने कहा कि चार चरणों के बाद इनके झूठे दावों की पोल खुल गई है। वंशवाद और भ्रष्‍टाचार की काली कमाई से इनमें जो अहंकार है, उसे ठीक करने की लोगों ने ठान ली है। ये हारे हुए लोग इससे बाहर निकलने का रास्‍ता तलाश रहे हैं। ये पहले मोदी को गाली दी, महामिलावटी डिक्‍शनरी लेकर नई गाली खोज रहे हैं।

कांग्रेस पर हमला बोलते हुए पीएम मोदी ने कहा कि इस बार कांग्रेस कम सीटों पर चुनाव लड़ रही है। इनकी स्‍थ‍िति‍ ऐसी क्‍यों? वंश और विरासत से एक कंपनी की कमान तो मिल सकती है पर चलाने के लिए वि‍जन कहां से लाओगे। महागठबंधन के पास नाम और दाम का व‍िजन, झूठ की राजनीत‍ि कर रहे। इनका इरादा ब‍िहार की सेवा करने का नहीं है। ये खुद को सेवक नहीं, लोकतंत्र का महाराजा बता रहे। झूठ बोलने में शर्म नहीं। आरक्षण के नाम पर झूठ फैला रहे हैं। झूठ बोले बिना इनका खाना हजम नहीं होता।

प्रधानमंत्री ने आरक्षण पर बोलते हुए कहा कि गरीब परिवार को 10 प्रति‍शत आरक्षण दिया, कि‍सी का हक नहीं छीना। इस देश में जब भी आरक्षण का मुद्दा आया, समाज तोड़ा गया, लड़ाया गया, अपनी राजनीत‍िक रोटी सेंकते रहे। 10 प्रति‍शत आरक्षण में ऐसा कुछ नहीं हुआ। इनका खेल अब खत्म है। हमारी सरकार ने भारत की चेतना को ऊर्जा दी है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि अब किसान बांस उगाकर बेच सकेंगे। क‍िसानों को लागत का डेढ गुना लागत मूल्‍य म‍िलेगा। वे लोग क‍िसानों के साथ धोखा कर कर रहे थे। 23 मई को चुनाव पर‍िणाम आने के बाद फ‍िर से एक बार मोदी सरकार। क‍िसान सम्‍मान में पांच एकड़ की सीमा खत्‍म होगी। किसानों की आय दोगुनी होगी। हर किसान के खाते में दूसरी किस्त भेजी जाएगी, सबको लाभ होगा।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *