हम जनपथ से नहीं, जनमत से चलाते हैं सरकार: मोदी

ओडिशा के कटक से अपनी सरकार के 4 साल का रिपोर्ट कार्ड पेश करते हुए पीएम मोदी ने अपनी उपलब्धियां गिनाई तो कांग्रेस समेत विपक्ष पर भी सियासी हमला किया . यूपीए सरकार में सोनिया गांधी की दखल पर कटाक्ष करते हुए पीएम ने कहा कि हम जनपथ से नहीं बल्कि जनमत से सरकार चलाते हैं. इस मौके पर पीएम ने कहा कि हमने जनधन, आधार और मोबाइल के जरिए 80,000 करोड़ रुपये गलत हाथों में जाने से बचाए हैं.

लोगों को संबोधित करते हुए पीएम ने कहा कि हमारी सरकार कनफ्यूजन नहीं बल्कि कमिटमेंट वाली सरकार है. मोदी ने कहा, 'कमिटमेंट वाली सरकार चलती है, तब देश का राजकोषीय घाटा कम करने का प्रयास सफल होता है. कालेधन और करप्शन के खिलाफ हमारी सरकार जिस तरह लड़ाई लड़ रही है, उसने कैसे कट्टर दुश्मनों को भी दोस्त बना दिया है. यह जनता देख रही है. आज 4 पूर्व मुख्यमंत्री जेल के अंदर हैं.'

पीएम ने कहा कि हमने देश के लोगों में यह भरोसा पैदा किया है कि स्थितियां बदल सकती हैं, हिंदुस्तान बदल सकता है. देश निराशा से आशा, कुशासन से सुशासन, कालेधन से जनधन की ओर तेज गति से बढ़ रहा है. कामाख्या से कन्याकुमारी तक यह सरकार सबका साथ सबका विकास के लए काम कर रही है. हमारी सरकार के लिए गरीबों का पसीना गंगा जल की तरह पवित्र है.

अपनी गरीबी का जिक्र करते हुए प्रधान मंत्री ने कहा, यह ऐसी सरकार है, जिसमें राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति और प्रधानमंत्री का जीवन एक-एक पैसे की चिंता करते हुए बीता है. पीएम ने कहा, न हम कड़े फैसले लेने से डरते हैं और न ही हम बड़े फैसले लेने से चूकते हैं। सर्जिकल स्ट्राइक, वन रैंक वन पेंशन, बेनामी संपत्ति कानून की चर्चा करते हुए पीएम ने अपने सरकार की पीठ थपथपाई.

देश के आधे लोगों तक गैस कनेक्शन, बिजली नहीं होने का जिक्र करते हुए पीएम ने विपक्ष पर कमेन्ट किया कि आधे से ज्यादा गांवों में सड़कें और शौचालय नहीं थे. यह बचा हुआ समाज दलित, शोषित, वंचित, पिछड़े और आदिवासी ही थे. कुछ राजनीतिक दलों ने वोट के पॉकेट बनाए थे और उसके लिए ही काम करते थे.

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *