यह दरिद्र नारायण की सेवा का महा अवसर- पीएम मोदी

आयुष्मान भारत योजना शुरू, 11 करोड़ परिवारों को मिलेगा लाभ
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को रांची में प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना की शुरुआत की। इसके तहत गरीब परिवार के हर सदस्य को सरकारी या निजी अस्पताल में सालाना पांच लाख रुपए तक का इलाज मुफ्त मिलेगा। देश के 10.74 करोड़ गरीब परिवारों के करीब 50 करोड़ सदस्यों को इसका लाभ मिलेगा।

इस मौके पर मोदी ने कहा कि हमारे ऋषियों-मुनियों ने सर्वे भवन्तु सुखिनः, सर्वे संतु निरामयः का सपना देखा था। कतार में सबसे आखिरी में खड़े व्यक्ति को भी लाभ मिले, इसका शुभारंभ हुआ है। प्रधानमंत्री ने कहा कि मेरे लिये दरिद्र नारायण की सेवा करने का अवसर है, 6 महीने के भीतर इस योजना का आना बहुत बड़ा अजूबा है।

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा, ‘6 महीने के भीतर इतनी बड़ी योजना की कल्पना से लेकर साकार तक का काम अपने आप में अजूबा. इस काम को पूरा करनेवाली टीम को बधाई देता हूं’
उन्होंने कहा कि समाज की आखिरी पंक्ति में खड़े व्यक्ति को, गरीब से भी गरीब को इलाज मिले,स्वास्थ्य की बेहतर सुविधा मिले,आज इस विजन के साथ बहुत बड़ा कदम उठाया गया है। आयुष्मान भारत के संकल्प के साथ, प्रधान मंत्री जन आरोग्य योजना आज से लागू हो रही है।

पीएम ने कहा कि आज पूरे हिंदुस्तान का ध्यान आज धरती आबा बिरसा मुण्डा की पावन धरती पर है। काम कैसे होता है, कितने बड़े पैमाने में होता है, यह झारखण्ड में देखा जा सकता है ये समारोह देश के 400 जिलों में चल रहा है वे लोग रांची के इस भव्य कार्यक्रम को देख रहे हैं।

पीएम मोदी ने कहा, ‘ आजादी के 70 साल में झारखंड में तीन मेडिकल कॉलेज और 350 विद्यार्थी थे. लेकिन चार सालों में इसी राज्य में 8 मेडिकल कॉलेज और 1200 छात्र.इसी से अंदाजा लगाया जा सकता है कि काम कैसे किया जाता है.’
उन्होंने कहा, मैं आश्वस्त हूं कि इस योजना से जुड़े हर व्यक्ति के प्रयासों से,आरोग्य मित्रों और आशा-एनएम बहनों के सहयोग से, हर डॉक्टर, हर नर्स, हर कर्मचारी, हर सर्विस प्रोवाइडर की समर्पित भावना से,हम इस योजना को सफल बना पाएंगे, एक स्वस्थ राष्ट्र का निर्माण कर पाएंगे

आज ही यहां पर 10 वेलनेस-सेंटर्स का भी शुभारंभ किया गया है। अब झारखंड में करीब 40 ऐसे सेंटर्स काम कर रहे हैं और देशभर में इनकी संख्या 2300 तक पहुंच चुकी है।अगले 4 वर्षों में देशभर में ऐसे डेढ़ लाख सेंटर्स तैयार करने का लक्ष्य है
पीएम मोदी ने कहा, ‘देश के 50 करोड़ से ज्यादा भाई-बहनों को 5 लाख रुपये तक का हेल्थ-इश्योरेंस देने वाली ये दुनिया की सबसे बड़ी योजना है. इस योजना के लाभार्थियों की संख्या पूरे यूरोपियन यूनियन की कुल आबादी के बराबर है.’ अगर आप अमेरिका, कनाडा और मैक्सिको इन तीनों देशों की आबादी को भी जोड़ दें, तो उनकी कुल संख्या इस योजना के लाभार्थियों की संख्या के करीब ही होगी।

पीएम ने कहा आयुष्मान भारत योजना से दो महापुरुषों का नाता जुड़ा है। अप्रैल में जब योजना के पहले चरण शुरु हुआ था तो उस दिन बाबा साहेब अंबेडकर का जन्मदिन था। अब इसी कड़ी में, प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना, दीन दयाल उपाध्याय जी के जन्मदिवस से दो दिन पहले शुरु हुई है।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *