समाज के हित की बात करने वाला बनेगा MLA,MP: अमर

समाज को अपने हित की रक्षा के लिए एकजुट होना जरूरी है। इसके साथ ही ऐसे लोगों का विरोध करना होगा जो समाज के अधिकारों की बात नहीं करते। जो नेता कुरमी समाज के अधिकार की बात करेगा और कुरमी को आदिवासी में शामिल कराएगा अब वही राज्य में सांसद और विधायक बनेगा। ये बातें बीजेपी नेता अमर चौधरी ने कुरमी विकास मोर्चा की महारैली में कही।

उन्होंने कहा कि किसी की न तो जाति बदलती है और न ही किसी का डोमिसाइल बदलता है अगर कुरमी समाज 1913 से लेकर 1931 तक में एसटी में शामिल था तो ऐसा क्या हो गया कि आज उसे एसटी में शामिल नहीं किया जा रहा है। आज कहा जा रहा है कि कुरमी बहुत पैसा वाला हो गया है, सक्षम हो गया है। उन्होंने कहा कि झारखंड में कुरमी की स्थिति ऐसी नहीं है कि उन्हें आर्थिक तौर पर सक्षम कहा जाए। लेकिन जब कभी भी विस्थापन हुआ तो इसकी मार कुरमी समाज के लोगों पर ही पड़ी है। उत्तरी छोटानागपुर में कोयला निकला तो उन्हें विस्थापित कर दिया गया। चांडिल डैम, गेतलसूद डैम, बिरसा एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी, जमशेदपुर में टाटा का प्लांट बना तो सबसे ज्यादा कुरमी समाज के लोग ही विस्थापित हुए। उन्होंने कहा कि राज्य निर्माण की लड़ाई में सबसे ज्यादा खून कुरमी समाज के लोगों का बहा है। उन्होंने कहा कि दुनिया का सबसे बड़ा गोली कांड सरायकेला में हुआ उसमें सैंकड़ो लोग शहीद हुए लेकिन इस घटना में सबसे ज्यादा क्षति कुरमी समाज के लोगों की हुई है।

श्री चौधरी ने झामुमो पर हमला करते हुए कहा कि पार्टी के विधायक अपनी सफाई दे रहे थे लेकिन झामुमो के नेता हेमंत सोरेन कहते हैं कि कुरमी को अगर एसटी का दर्जा मिलेगा तो मुझे ब्राह्मण बना दो। श्री चौधरी ने झामुमो आलाकमान को आगाह करते हुए कहा कि बिनोद बिहारी महतो के कुनबे ने झामुमो की नींव रखी, आज उसी समाज के मांग का हेमंत सोरेन विरोध कर रहे हैं अगर कुरमी समाज झामुमो का साथ छोड़ देगा तो पार्टी सड़क पर आ जाएगी। इसके साथ ही उन्होंने समाज से अपील की और कहा कि समय आ गया है कि समाज जागरुक हो, एकजुट होकर अपनी लड़ाई लड़े। क्योंकि यह लड़ाई लंबी चलेगी।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *