नेपाल में संसदीय चुनाव आज, सीमावर्ती इलाक़ों पर भी असर

नेपाल में गुरुवार को संघीय गणतंत्र को संस्थागत करने के उद्देश्य से संसदीय चुनाव हो रहा है। मतदाताओं में इसको ले कर जबरदस्त उत्साह है। नेपाल के गृह मंत्रालय के मुताबिक, चुनाव की सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। मतदान सुबह के 7 बजे से 5 बजे शाम तक होगी। इसे देखते हुए भारत-नेपाल सीमा को 72 घंटे पूर्व ही सील कर दिया गया है। नेपाल के गृह मंत्रालय के नेतृत्व में सेना व पुलिस की विशेष टोली ने पर्सा जिला समेत 10 सीमावर्ती जिलों का हवाई सर्वेक्षण किया है।

वहीं इन इलाकों में सड़कों पर गाड़ियों के परिचालन पर रोक लगा दिया गया है। घरेलू हवाई सेवा में 70 प्रतिशत कटौती की गई है। निर्देश है कि मतदान केंद्र पर मतदाता पहचान पत्र जरूरी है। यदि नहीं है तो कोई भी सरकारी प्रमाण पत्र देना होगा। मतदान केंद्रों पर सीसीटीवी की निगरानी के बीच थ्री लेयर सुरक्षा व्यवस्था की गई है। नेपाल में लगातार हुए विप्लव समूह के बम विस्फोट की घटना को देखते हुए 10 मिनट के भीतर एक्शन के लिए क्विक रिस्पांस फोर्स व रिजर्व फोर्स की व्यवस्था की गई है। हेलीकॉप्टर तैनात किए गए हैं। डॉग स्क्वायड समेत बम निरोधक दस्ता भी सक्रिय है।

बता दें कि 11 दिन पहले प्रथम चरण का चुनाव सम्पन्न हुआ था। आज हो रहे दूसरे चरण के चुनाव के तहत 128 प्रतिनिधि सभा का चुनाव हो रहा है। जिसके लिए 8 हजार मतदान स्थल पर 15 हजार मतदान केंद्र बनाए गये हैं। इसमें 10 हजार प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला करने के लिए 1 करोड़ 22 लाख 35 हजार 993 मतददाता वोट करेंगे। आठ दिनों में परिणाम घोषित होंगे। वहीं, नेपाल से सटे बिहार के सुपौल जिले के भीमनगर और कुनौली सीमा पर भारतीय एसएसबी जवानों ने भी चुनाव को लेकर सख्ती की है। भारतीय प्रभाग से भी चुनाव को लेकर सुरक्षा के कड़े इंतजाम किये गए हैं।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *