ऑफ द रिकार्ड- लालू जी का इंटरव्यू

-संजय सिंह-

-नीतीश का नरेटी टीप देगा मोदी
-कोर्टवा त हमको पटना-रांची शटल बना दिया है

लालू जी अभी-अभी रांची से पटना लौटे थे। मैं उनके लौटने के इंतजार में तीसरी बार खैनी दबा चुका था। गेट पर हलचल हुई तो दौड़ कर गमला में खैनी को विसर्जित कर लालू जी को अपना चेहरा दिखाने के लिए साइड पकड़ लिया। लालू जी देखते ही बोले, हांफल आ रहे हैं, थोड़ा सांस लेके बुलाते हैं तुमको। मैं चौथी बार बुद्धिवर्धक चूर्ण दबा कर बुलावा का इंतजार करने लगा। तभी बाबा (शिवानंद तिवारी) आते दिखे। हम अपना माथा पीट लिए। समझ गया कि बाबा अब लालू जी को खखोरेंगे और मेरा इंतजार लंबा होगा। लेकिन यह क्या, बाबा आए और जाने भी लगे। पता चला बाबा को लालू जी भोरे-भोरे बुलाए हैं। कुछ ही देर में मेरा भी बुलावा आया। लालू जी कुर्सी पर बैठे थे। टंगड़ी दूसरी कुर्सी पर पसारे हुए थे। मेरे वहां पहुंचते ही बोले, जल्दी-जल्दी जो पूछना है पूछो। बस पांच मिनट का टाइम है। मन थाकल लग रहा है। मैं प्रश्नों की गोली दागने लगा।

प्रश्नः रांची हाईकोर्ट ने सीबीआई कोर्ट बदलने का आपका अनुरोध क्यों ठुकरा दिया।
लालूः ई हाईकोर्ट से पूछो। हम का बताए। हम तो बस यही चाहते थे कि पटना में सुनवाई का सुविधा दे देता तो पटना-रांची के भागा-भागी से राहत मिलता। ई तो कोर्टवो को पता है कि हम पटना में रहते हैं। बिहार की राजनीति करते हैं, पटना नहीं छोड़ सकते। सुनवाई रांची में कर रहा है। हमको पटना-रांची शटल बना दिया है।

प्रश्नः सूत्र बता रहे हैं कि पटना-रांची भागा-भागी के कारण ही नीतीश जी को भाजपा वालों को पटाने का मौका मिल गया।
लालूः ना, ना ना। मोदी इसका डीएनए जानता था। बोला था न जनसभा में। नीतीश तिलमिलाया था। हमहू मोदी पर चिचियाये थे। हमको लगा था कि ई गुजराती मोदी हम बिहारियों का बांह ममोड़ने के फिराक में है। हमको का पता था कि दूनों मुचुअल खेला खेल रहा है।

प्रश्नः इसका मतलब है कि आप नीतीश जी को समझने में चूक कर गए।
लालूः चूका-वूका कुछो नहीं था। नीतीश को हम कॉलेज के जमाने से जानते हैं। रग-रग से वाकिफ हैं। ई किसी का नहीं है। अच्छा बताओ, बाप बेटा का करियर बनाता है कि नहीं। बनाता है न। का-का नहीं करता उसके लिए। ई का किया अपना बेटा के लिए। जो बेटा का गारजियन ठीक नहीं हो सकता, ऊ राज्य की जनता का गारजियन कइसे बन सकता है। ई सब हम जानते-समझते थे। बाकी ई अइसा नाटक किया कि मोदी को मुआइये देगा। हम जानते थे कि नीतीश हवाई फायर कर रहा है।  बाकी हम खाली इसलिए इसको गला लगा लिए कि हवा में ही सही, फायर तो कर रहा है न।

प्रश्नः अब आगे क्या होगा।
लालूः आगे आग लगेगा। देखते रहो। सब सामने आएगा। नीतीश समझ रहा है कि हमरा कुरता जादा उजर है तो ई मोदी ओकर नरेटी टीप के आपन दागदार कुरता के उजर करेगा।

प्रश्नः का कहे आप।
लालूः सब आज ही समझ लोगे तो कल का प्रश्न पूछोगे। पांच मिनट का  समय लेके चालीस मिनट खतम कर दिया। जाओ फेर आगे बात होगी।
प्रणाम।…..

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *