बीजेपी को महंगी न पड़ जाए नितिन पटेल की नाराजगी

गुजरात में अभी-अभी बीजेपी ने सत्ता संभाली है पर जो खबर आ रही हैं वे बीजेपी में आने वाले बगावत की ओर इशारा कर रहे हैं. गुजरात की जीत बीजेपी को बहुत ही जोखिम उठाकर मिली है. एक तरह से कहा जाय तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जबरदस्त कैंपेन और रणनीतिक दांवपेज का ही परिणाम है कि गुजरात में बीजेपी को यह जीत मिली है.

लेकिन गुजरात में बीजेपी के लिए सत्ता हासिल करना जितना मुश्किल था उसी तरह अब नई सरकार के गठन के बाद मंत्रियों के पदों के बंटवारे में भी पार्टी को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है. बताया जा रहा है कि मनचाहा विभाग न मिलने से नितिन पटेल काफी नाराज हैं और उन्होंने अपने विभाग का कामकाज तक नहीं संभाला है. नई सरकार के शपथ ग्रहण होने के कुछ दिन बाद भी उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल ने उनको आवंटित विभागों का कार्यभार नहीं संभाला है. बीजेपी के एक सूत्र ने बताया कि उन्होंने खुद को आवंटित विभागों को लेकर अपनी नाराजगी के बारे में पार्टी नेतृत्व को अवगत करा दिया है.

राज्य की पिछली सरकार में पटेल के पास वित्त और शहरी विकास जैसे महत्वपूर्ण विभाग थे लेकिन इस बार उन्हें सड़क एवं भवन और स्वास्थ्य जैसे विभाग आवंटित किये गये हैं. ऐसे में पटेल इस बार मनचाहा विभाग न मिलने से नाराज दिख रहे हैं. गुजरात में बीजेपी सरकार के गठन के बाद गत 28 दिसम्बर को विभागों के बंटवारे में पटेल को इन दो विभागों के अलावा चिकित्सा शिक्षा, नर्मदा, कल्पसार और राजधानी परियोजना का प्रभार भी दिया गया है. जानकारों की मानें तो उपमुख्यमंत्री ने आज तक इन विभागों का प्रभार नहीं संभाला है. इस बार वित्त मंत्रालय सौरभ पटेल को आवंटित किया गया है जबकि गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने शहरी विकास विभाग खुद के पास ही रखा है.

पटेल की पार्टी के साथ नाराजगी के बारे में किये गये सवाल पर रूपाणी बिना कोई जवाब दिये चले गये. गुरुवार को विभागों के बंटवारे के बाद नितिन पटेल मीडिया ब्रीफिंग में कुछ नहीं बोले थे और जल्दी चले गये थे. उस समय रूपाणी ने कहा था, ‘यह सच नहीं है कि वित्त विभाग संभालने वाले मंत्री कैबिनेट में नम्बर दो है. नितिन पटेल हमारे वरिष्ठ नेता है और वह नम्बर दो बने रहेंगे.’ काफी प्रयासों के बावजूद नितिन पटेल से प्रतिक्रिया नहीं मिल सकी थी.

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *