मिशन 2019- गांवों में जड़ें मजबूत करने उतरेगा आरएसएस

मिशन 2019 की तैयारी में जुटी बीजेपी को हर संभव मदद पहुंचाने के लिए संघ अपने विस्तार की ओर तेजी कदम बढ़ा रहा है। कोशिश की जा रही है कि इसकी पकड़ ग्रास रूट तक हो, गांव-गांव में संघ के स्वयंसेवक काम करें, और लोगों में राष्ट्रवादी विचारधारा का संचार करें।

इसी कवायद के तहत संघ प्रमुख मोहन भागवत ने कहा है कि आने वाले दिनों में अधिक से अधिक स्वयंसेवकों को संगठन में शामिल किया जाएगा। उन्होंने कहा कि देश में राजनीति स्थिति चाहे जो भी हो, संघ गांव-गांव तक अपने संगठन को बढ़ाने पर फोकस करेगा।

संघ की ओर से आयोजित दो दिवसीय 'समरसता संगम' के उद्घाटन सत्र में संघ प्रमुख ने स्वयंसेवकों से गांवों में जाने की अपील की और अधिक से अधिक युवा शक्ति को संगठन से जोड़ने को कहा। उन्होंने स्वयंसेवकों से बैठकों के दौरान संघ की यूनिफॉर्म में आने की अपील की। उन्होंने कहा कि 45 लाख लोगों के इस जिले में 8 रजिस्ट्रेशन सेंटर स्थापित किए गए हैं, जहां स्वयंसेवकों के नाप के अनुसार यूनिफॉर्म तैयार किए जा रहे हैं।

आरएसएस प्रमुख ने कहा कि जिस गति से संघ शहरों में फैल रहा है वह गांवों की अपेक्षा ज्यादा है। अधिक से अधिक ग्रामीण युवा संगठन से जुड़ें, संघ इसके लिए प्रयासरत है। उन्होंने कहा कि आधुनिकीकरण के बावजूद, आज भी भारत की आत्मा गांवों में ही बसती है। मोदी सरकार का ध्यान भी कृषि पर केंद्रित है और आरएसएस भी ग्रामीण क्षेत्रों पर ध्यान केंद्रित कर रहा है, ताकि 2019 के चुनाव तक गांवों में हर मतदान बूथ तक संघ के स्वयंसेवक पहुंच सके, जिससे बीजेपी के पक्ष में वोट फीसद को बढ़ाया जा सके।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *