मिशन 2019 : हरियाणा में शाह बोले, अबकी बार चाहिए सभी 10 सीट

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अमित शाह की हरियाणा के जींद रैली से मिशन 2019 का आगाज किया उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने एक ही साल में 'वन रैंक वन पेंशन' (OROP) का काम पूरा करके फौजियों को सम्मान देने का काम किया है. उन्होंने कहा कि आजादी के बाद पहली बार ग्रामीणों, किसानों और गरीबों को लग रहा है कि ये सरकार मेरी सरकार है.

शाह ने हरियाणा में सभी सीटों को 2019 में बीजेपी द्वारा जीतने के लिए राज्य के मतदाताओं से अपील की. उन्होंने कहा कि आप लोगों ने पिछली बार कुछ सीटें छोड़ दी थीं. इस बार के चुनाव में सभी सीटों पर बीजेपी को जीत दिलानी है.

शाह ने कहा कि मैं यहां हरियाणा जनता को बताने के लिए आया हूं, कि आपने 2014 के लोकसभा और विधानसभा चुनाव में जो जनादेश दिया था. केंद्र की मोदी और राज्य की खट्टर सरकार ने हर घर में शौचालय और सभी गांवों में बिजली पहुंचाने का काम किया है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस हमसे पूछती है कि हम क्या कर रहे हैं. हमें उन्हें किसी भी प्रकार से हिसाब देना नहीं है. शाह ने कहा कि केंद्र की मोदी और राज्य की खट्टर सरकार ने भ्रष्टाचार मुक्त शासन दिया है. चार साल बाद हमारे विरोधी भी केंद्र की मोदी सरकार पर भ्रष्टाचार के आरोप नहीं लगा सकते.

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अमित शाह की हरियाणा के जींद में होने वाली बाइक रैली से कुछ ही घंटे पहले जींद के कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अशोक तंवर को गिरफ्तार कर लिया गया. अशोक तंवर बाइक रैली का विरोध करने जींद पहुंचे थे.
इससे पहले, हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर बाइक रैली को लेकर पूरी तरह मुस्तैद दिखे. एक दिन पहले ही उन्होंने बाइक रैली की तैयारियों का जायजा लेने के लिए बिना नंबर की बुलेट की सवारी की थी. खट्टर अमित शाह की बाइक रैली को लेकर कितने सजग हैं, इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि वे खुद हैलीपैड से बुलेट चलाकर रैली स्थल तक पहुंचे. आज अमित शाह भी इसी रास्ते से बाइक चलाकर रैली स्थल तक पहुंचेंगे.

मुख्यमंत्री ने कहा कि जींद हरियाणा के मध्य में आता है. इसीलिए बाइक रैली के लिए इस जिले को चुना है. उन्होंने कहा कि उम्मीद है कि इस बाइक रैली में प्रदेशभर से लोग आएंगे. चुनाव पर उन्होंने कहा कि वे हमेशा चुनाव के लिए तैयार रहते हैं. रैली को सफल बनाने के लिए प्रदेशभर के कार्यकर्ता जी-जान से जुटे हुए हैं.

एक लाख बाइक शामिल
माना जा रहा है कि अमित शाह इस बाइक रैली से मिशन 2019 का चुनावी बिगुल फूंकेंगे. बीजेपी ने रैली में एक लाख बाइक शामिल करने का लक्ष्य रखा है. जाटों के बाद हरियाणा के विपक्षी दल आईएनएलडी, कांग्रेस और आम आदमी पार्टी ने भी अपने-अपने तरीके से अमित शाह का विरोध करने का ऐलान कर दिया है. इसी को देखते हुए हरियाणा सरकार ने केंद्र सरकार से 150 अर्धसैनिक बलों की कंपनियां मांगी थी, जिनमें से 80 कंपनियां हरियाणा सरकार को मिल गई हैं. आईएनएलडी के नेताओं ने ऐलान किया है कि वह 20,000 काले गुब्बारे अमित शाह के विरोध में छोड़ेंगे. वहीं कांग्रेस पार्टी ने बड़े पैमाने पर अमित शाह को काले झंडे दिखाने का फैसला किया है. आम आदमी पार्टी अमित शाह को पकौड़े भेंट करने की तैयारी में है.

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *