लालू का संदेश पूरे बिहार में पहुंचाएंगेः तेजस्वी

लालू यादव को सजा का ऐलान होने से चंद मिनट पहले उनके पुत्र तेजस्वी यादव ने पार्टी की एकजुटता दिखाते हुए मोदी सरकार और नीतिश कुमार पर जमकर हमला बोला. शनिवार दोपहर को लालू यादव के घर पर आरजेडी की बैठक के बाद मीडिया से मुखातिब होते हुए तेजस्वी ने कहा कि लालू जी ने जेल से एक चिट्ठी लिखी थी, जिसे आज की बैठक में पढ़ा गया. उनका ये संदेश पूरे बिहार में पहुंचाएंगे. तेजस्वी ने बताया कि बैठक में सांसद, विधायक, पार्षद से लेकर जिला-ब्लाक स्तर तक के पदाधिकारी उपस्थित थे. बैठक में लालू जी ने संघर्ष का जो ऐलान किया था, उसे आगे बढ़ाने पर चर्चा की गई. बैठक में पार्टी की आगे की रणनीति पर विचार-विमर्श किया गया.

तेजस्वी ने बताया कि लालू जी ने बिहारवासियों के लिए एक खत लिखा है. उसे बिहार के जन-जन तक पहुंचाया जाएगा. आज की बैठक में चिट्ठी पढ़ी गई. उनके संदेश को गांवों तक पहुंचाना है. पार्टी में फूट के अंदेशे के बीच तेजस्वी ने कहा कि हमारी पार्टी एकजुट है. पार्टी और ताकतवर होगी. मकर संक्रांति तक हम अपने मालिक यानि जनता के बीच जाएंगे. तेजस्वी ने भाजपा और नीतिश कुमार पर हमला बोलते हुए कहा कि जनता ने जिन्हें चुना, वे आज कारागार में है. जिन्हें नहीं चुना, वे चोर दरवाजे से सत्ता में बैठे हैं. भाजपा के लोग, खासकर नीतिश कुमार को सर्वाधिक डर था.

आज आरजेडी की बैठक बुलाए जाने के पीछे एक महत्वपूर्ण कारण ये था कि अगर लालू प्रसाद यादव को तीन साल से ज्यादा की सजा होती है तो पार्टी की आगे की रणनीति क्या होगी, किसके नेतृत्व में पार्टी को आगे बढ़ाया जाएगा. इसके लिए प्रखंड स्तर से लेकर राज्य स्तर के नेताओं और कार्यकर्ताओं तक को बुलाया गया. इससे पहले पार्टी के वरिष्ठ नेता जगदानंद सिंह ने कहा कि तेजस्वी प्रसाद यादव को हमने नेता मान लिया है और साल 2020 में सब कुछ उन्हीं के नेतृत्व में होगा.

जगदानंद सिंह ने यह भी कहा कि लालू जी के जेल जाने से हमारी पार्टी और मजबूत होगी, कमजोर नहीं. उन्होंने कहा कि अगर किसी की मंशा हमारी पार्टी को कमजोर करने की है तो उसकी यह मंशा पूरी नहीं होगी. यह केस साल 1996 से चल रहा है. हमारी पार्टी की विचारधारा कभी कमजोर नहीं होगी. हमारी पार्टी भगोड़ों की पार्टी नहीं है, हम सब एकजुट हैं.

बता दें कि 23 दिसंबर को आरजेडी अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव को देवघर कोषागार से अवैध निकासी के मामले में दोषी करार दिया गया था. उसके बाद 3 जनवरी को उन पर सजा ऐलान होना था. इसलिए आरजेडी ने 6 जनवरी को बैठक रखी थी, ताकि तब तक लालू प्रसाद यादव पर फैसले का ऐलान हो जाए और उसके बाद पार्टी आगे की रणनीति तय करेगी. लेकिन ऐसा हुआ नहीं. आज चारा घोटाले में लालू यादव को साढ़े तीन साल की सजा सुना दी गई है.

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *