भागलपुर के गुनहगार, बिहार पुलिस के नए सरदार

-केएस द्विवेदी बिहार के नए डीजीपी, कई दलों ने उठाये सवाल

केएस द्विवेदी बिहार के नए डीजीपी होंगे. वो वर्तमान डीजीपी पीके ठाकुर की जगह लेंगे. पीके ठाकुर 28 फरवरी को रिटायर हो रहे हैं. केएस द्विवेदी के डीजीपी बनने पर कई लोगों ने सवाल खड़े किये हैं. सवाल करने वाले नेता भागलपुर दंगे में उनकी विवादास्पद भूमिका की वज़ह से मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर निशाना साध रहे हैं. विपक्ष के नेताओं को लगता है कि बिहार सरकार ने आरएसएस के दवाब में आकर यह फैसला किया है.

दरअसल 1989 में भागलपुर दंगे के वक़्त अरुण कुमार झा जिला कलेक्टर और केएस द्विवेदी पुलिस अधीक्षक थे. जिला प्रशासन पर आरोप था कि वो दंगा रोकने में नाकाम रहा. पुलिस अधीक्षक की भूमिका पर भी सवाल उठाये गए. तत्कालीन रिपोर्ट्स और इंटेलिजेंस तक ने जिला पुलिस के अधिकारियों पर एकपक्षीय होने का आरोप लगाया था.

ऐसे में राज्य सरकार ने बाद में कृपाशंकर द्विवेदी को जिला या क्षेत्र में बहुत दिनों तक महत्वपूर्ण पोस्टिंग नहीं दी. लेकिन मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इन्हें प्रदेश की सबसे महत्वपूर्ण पोस्टिंग देकर सबको जहां चौंकाया वहीँ विपक्ष को सवाल खड़ा करने का अवसर भी दे दिया.

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *