जनमुद्दों पर बहस करना BJP के बूते की बात नहीं: JVM

झाविमो के केन्द्रीय प्रवक्ता योगेन्द्र प्रताप सिंह ने भाजपा प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुवा द्वारा भूमि अधिग्रहण संशोधन विधेयक पर बाबूलाल मरांडी को दिए गए खुली बहस के संदर्भ में कहा कि झाविमो इस चुनौती को स्वीकार करती है। बाबूलाल मरांडी पीठ दिखाने वालों में से नहीं हैं, बीजेपी अध्यक्ष बहस की जगह और समय तय कर लें। बाबूलाल बहस करने के लिए तैयार हैं। उन्होंने कहा कि दरअसल खुली बहस की चुनौती देकर मैदान छोड़ना भाजपा की पुरानी फितरत रही है। इसके पहले सीएम रघुवर दास ने भी विकास के मसले पर मोरहाबादी मैदान में खुली बहस करने की चुनौती दी थी पर वे आज तक बहस नहीं करा पाए हैं। मुख्यमंत्री की खुली बहस का हश्र तो राज्य की जनता ने देख लिया अब भाजपा प्रदेश अध्यक्ष क्या करते हैं इसे भी देख लिया जाय।

झाविमो प्रवक्ता ने कहा कि बीजेपी अध्यक्ष से एक आग्रह भी होगा कि वे सीएम रघुवर दास को भी उनके द्वारा पूर्व में दिए गए बहस की चुनौती को याद दिलाते हुए उन्हें भी इस बहस में जरूर लायें। कहा कि जनमुद्दों पर बहस करना भाजपा के बूते की बात नहीं, क्योंकि उनका हर फैसला जनविरोधी है। भाजपा जनमुद्दों से ध्यान भटकाने के लिए साम्प्रदायिक सद्भाव बिगाड़ने में लगी हुई है। इसका ज्वलंत उदाहरण रांची में देखने को मिला है।

उन्होंने कहा कि बीजेपी अध्यक्ष आग्रह है कि बहस तो कभी भी करा लें पहले प्रदेश की कानून व्यवस्था को दुरुस्त कर लें। जनता के मन में सरकार व पुलिस-प्रशासन के प्रति इकबाल पैदा कीजिए और राज्य को सांप्रदायिकता की आग में झुलसने से बचाइए।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *