JDU लोकसभा,विधानसभा का चुनाव एक साथ कराने के पक्ष में!

बिहार में बीजेपी के साथ गठबंधन बनाकर सत्ता में आई जदयू ने बीजेपी के लोकसभा और विधानसभा का चुनाव एक साथ किए जाने के प्रस्ताव की वकालत की है पर उसके साथ जदयू ने कुछ शर्तें भी लगा दी है। पार्टी ने कहा है कि पार्टी चुनावी खर्च को कम करने के लिए सैद्धांतिक तौर पर केंद्र सरकार के इस सुझाव का समर्थन देती है, लेकिन यह संभव नहीं है।

बिहार में भाजपा के साथ सत्ताधारी पार्टी जेडीयू ने लोकसभा और विधानसभा का चुनाव 2019 में एक साथ संभव नहीं बताते हुए स्पष्ट कर दिया कि विधानसभा का चुनाव 2020 में ही होंगे। जेडीयू अध्यक्ष नीतीश कुमार की अध्यक्षता में पार्टी कार्यकारिणी की बैठक के बाद जदयू के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह और कोषाध्यक्ष रणवीर नंदन के साथ पत्रकारों को संबोधित करते हुए पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव (संगठन) आरसीपी सिंह ने चुनाव खर्च को कम करने के लिए लोकसभा और विधानसभा के चुनाव साथ कराने के लिए हमारी पार्टी सैद्धांतिक तौर पर सहमत है। मगर ऐसा पूरे देश में हो तब ही।

उन्होंने कहा कि ऐसा पूरे देश में हो और यह नहीं कि 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव के साथ बिहार विधानसभा का चुनाव करा दिया जाए। उन्होंने कहा कि बिहार विधानसभा का चुनाव अपने निर्धारित समय 2020 में ही होगा और हमारी पार्टी दोनों चुनावों को ध्यान में रखकर अपनी तैयारी भी कर रही है। यह पूछे जाने पर अगर 2019 में लोकसभा के साथ बिहार विधानसभा का चुनाव अगर होता है तो क्या उसके लिए आपकी पार्टी तैयार है, सिंह ने कहा कि अभी गुजरात में चुनाव हुए और क्या वहां के विधानसभा का चुनाव लोकसभा के साथ कराया जाना संभव था।

उन्होंने कहा कि उसी प्रकार से भविष्य में नगालैंड और त्रिपुरा में विधानसभा का चुनाव होने जा रहा है, तो क्या इन स्थानों का चुनाव लोकसभा चुनाव के साथ कराया जाना संभव है। उन्होंने कहा कि हर प्रदेश की अपनी अलग-अलग परिस्थितियां हैं उसके अनुसार लोकसभा चुनाव के साथ विधानसभा चुनाव को तुरंत लागू नहीं किया जा सकता। उन्होंने कहा कि बिहार विधानसभा का चुनाव 2020 में ही होगा, 2019 में नहीं हो सकता है।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *