रघुवर सरकार की नीतियां ST/SC के खिलाफः जर्नादन प्रसाद

मुख्यमंत्री रघुवर दास की सरकार ने भारत बंद के दौरान शांतिपूर्ण तरीके से प्रदर्शन कर रहे विद्यार्थियों पर लाठी चार्ज किया है। उससे जाहिर होता है कि सरकार लोगों की आवाज दबाने के लिए किसी भी स्तर तक जा सकती है। सरकार की नीति दलितों, आदिवासियों के खिलाफ है। ये बातें माले के राज्य सचिव कॉमरेड जर्नादन प्रसाद ने आज पत्रकार से कही।

उन्होंने कहा कि भारत बंद के दौरान छात्राओं के होस्टल में घुसकर छात्राओं के साथ मारपीट किया गया, उन्हें उसी अवस्था में खींचकर कैंप जेल भेजने की बर्बर कार्रवाई की गई इसकी जितनी भी निंदा की जाए, वह कम है। उन्होंने कहा कि इस पूरे मामले की जांच हाईकोर्ट के रिटायर जज से होनी चाहिए।

उन्होंने कहा कि इस मुद्दे को लेकर वामदल राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू से मुलाकात कर इस पूरे मामले की जांच की मांग करेगा। वहीं इस मौके पर सीपीआई के राज्य सचिव कॉमरेड केडी सिंह ने कहा कि बीजेपी के खिलाफ पूरा वामदल एकजुट है। बीजेपी को हराने के लिए वामदलों द्वारा सभी स्तरों पर प्रयास जारी रहेगा। उन्होंने कहा कि भारत बंद के दौरान राज्य सरकार ने निर्दोष छात्राओं के साथ मारपीट की, उन्हें घायल कर दिया गया। वे अब भी हॉस्पिटल में भर्ती हैं। उनके इलाज की समुचित जिम्मेवारी राज्य सरकार को लेनी चाहिए। वहीं उन्होंने कहा कि जिन छात्रों पर केस किया गया है उसे प्रशासन अविलंब वापस ले। जेल भेजे गये छात्र नेता को अविलंब रिहा करे। सीपीआई (एम) के राज्यसचिव गोपीकांन्त बक्शी ने कहा कि नगर निकाय चुनाव पहली बार पार्टी आधारित हो रही है। इस चुनाव में वामदलों के प्रत्याशी जहां-जहां से चुनाव लड़ रहे वहां पर प्रत्याशियों के लिए पूरा वामदल एकजुट है। इस मौके पर सीपीआई के इफ्तिकार महमूद, रॉबिन समाजपति, मिथिलेश सिंह सहित अन्य उपस्थित थे।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *