सोने की तरह तप रहा हूं- लालू

लालू यादव भले ही जेल में बंद हैं पर अपने समर्थकों के बीच वे लगातार बने हुए हैं. यह लगातार जता रहे हैं कि उनके इरादे पक्के हैं और निगाह मंजिल पर ही बनी हुई है. इसलिए जेल की चहारदीवारी उनके हौसले को डिगा नहीं सकती है.

गौरतबल है कि चारा घोटाले के एक मामले में रांची की विशेष सीबीआई अदालत के द्वारा दोषी ठहराए जाने के बाद बिरसा मुंडा जेल में बंद हैं. राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने आज दूसरा ट्वीट किया जिसमें उन्होंने दार्शनिक अंदाज में लिखा- 'सोने को तपाया जाता है, तो उसका क्या होता है?’ दरअसल, इस ट्वीट के जरिए लालू प्रसाद यादव अपने चाहने वाले और फॉलोवर्स को यह संदेश देना चाह रहे थे कि फिलहाल वह बिरसा मुंडा जेल में बंद हैं और यह वक्त उनके लिए वैसा ही है जैसा कि सोने का होता है जो कि आग में तपने के बाद ही खरा सोना बनता है.

इस ट्वीट के जरिए लालू ने अपने राजनीतिक विरोधियों भाजपा और जदयू को भी चेताया कि अगर उन्हें लग रहा हो कि लालू यादव को जेल में बंद कर देने के बाद उनके लिए आगे का रास्ता सरल हो गया है तो वैसा नहीं है. इस ट्वीट के जरिए लालू ने साफ कर दिया कि जेल में सोने की तरह तपने के बाद वह और मजबूत होकर वापस लौटेंगे.

गौरतलब है कि जेल जाने के बाद आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने एक ट्वीट और किया था जिसमें उन्होंने कहा था कि वह अपने विचार या संदेश जेल में उनसे मुलाकात करने वाले लोगों के जरिए अपने परिवार वाले या अपने कार्यालय को पहुंचा देंगे, जो उसे आगे ट्वीट करेंगे. माना जा रहा है कि लालू ने जो आज ट्वीट किया है वह संदेश पर उन्होंने किसी मुलाकाती के जरिए ही अपने परिवार वालों तक पहुंचाया है.

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *