सरना कोड की मांग को लेकर झारखंड के विभिन्न जिलों में बनाया गया मानव श्रृंखला

केंद्रीय सरना समिति एवं विभिन्न आदिवासी संगठन सरना कोड की मांग को लेकर झारखंड राज्य के विभिन्न जिलों में मानव श्रृंखला बनाया गया है. रांची में बिरसा चौक से विधानसभा तक एवं बिरसा समाधि स्थल कोकर से बूटी मोड़ एवं अन्य टोला मोहल्ला में मानव श्रृंखला बनाया गया. केंद्रीय सरना समिति के केंद्रीय अध्यक्ष फूलचंद तिर्की ने कहा कि सरना कोड आदिवासियों की वर्षो पुरानी मांग है बाबा कार्तिक उरांव मरंग गोमके जयपाल सिंह मुंडा ने सरना कोड की मांग तत्कालीन सरकार से किया था परंतु षड्यंत्र के तहत आदिवासियों को सरना कोड नहीं दिया गया तब से लेकर आज तक आदिवासी अपनी अलग पहचान के लिए संघर्ष करता रहा है उन्होंने हेमंत सरकार से मांग किया है कि मॉनसून सत्र में सरना धर्म कोड बिल पारित कर केंद्र भेजें अन्यथा आदिवासी समाज सड़क से लेकर सदन तक आंदोलन करेगी उन्होंने कहा कि इस राज्य में मुख्यमंत्री आदिवासी राजपाल आदिवासी एवं विपक्ष के नेता आदिवासी परंतु दुर्भाग्य की बात है कि आदिवासी अपनी मांगों को लेकर सड़क में आंदोलन कर रहे हैं यदि इस राज्य के मंत्री विधायक मॉनसून सत्र में सरना कोड की आवाज नहीं उठाते हैं तो ऐसे मंत्री विधायकों को गांव घर में घुसने नहीं दिया जाएगा एवं आदिवासी अपनी मांगों को लेकर देशव्यापी चक्का जाम करेगी महासचिव संजय तिर्की ने कहा कि गुलाम भारत में आदिवासियों का अलग धर्म कोल्लम था 1871 से लेकर 1941 तक धर्म कॉलम था परंतु जैसे ही भारत देश 1947 में आजाद हुआ वैसे ही 1951 की प्रथम जनगणना में आदिवासी धर्म कॉलम को हटा दिया गया उन्होंने कहा कि फिर से आदिवासियों का धर्म कॉलम को रिस्टोर किया जाए कार्यक्रम में केंद्रीय सरना समिति के महिला शाखा अध्यक्ष नीरा टोप्पो केंद्रीय समिति के संरक्षक भुनेश्वर रांची जिला सरना समिति के अध्यक्ष अमर तिर्की रांची महानगर अध्यक्ष विनय उरांव सचिव सुनील उरांव लिली तिर्की सुखवारो उरांव मंगल उरांव इन्द्रमणी तिग्गा सोनी तिर्की अमित टोप्पो मंगल उरांव नवेल उरांव एवं अन्य उपस्थित थे.

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *