दलितों, पिछड़ों पर जुल्म कर रही एनडीए सरकारः शिवानंद

राजद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी ने कहा है कि उत्तर प्रदेश में मायावती और अखिलेश यादव के बीच जो गठबंधन हुआ है। वह स्वागतयोग्य है। राजद मुखिया लालू प्रसाद इस गठबंधन के लिए लगातार प्रयत्नशील थे। लालू जी का प्रयास सार्थक रहा और आने वाले समय में महागठबंधन की कवायद संभव होगा। उन्होंने कहा कि इससे आगामी लोकसभा चुनाव में बीजेपी को पटकनी दी जा सकती है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि एनडीए में बिखराव शुरू हो गया है। इसी का परिणाम है कि जीतन राम मांझी एनडीए को छोड़ चुके हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर हमला बोलते हुए कहा कि सीएम नीतीश भले ही कह रहे हैं कि जीतनराम मांझी को छोड़ने से कोई फर्क नहीं पड़ा है। लेकिन केन्द्रीय मंत्री उपेन्द्र कुशवाहा ने माना है कि जीतन राम मांझी को एनडीए से बाहर जाने गठबंधन को नुकसान हुआ है। उन्होंने कहा कि जीतनराम मांझी और उपेन्द्र कुशवाहा नीतीश कुमार से ही त्रस्त होकर एनडीए में गये थे। लेकिन नीतीश ने मौकपरस्त राजनीति की और पाला बदलते हुए एक बरा फिर एनडीए के साथ हो लिए जिसके कारण मांझी जैसे लोग असहज महसूस कर रहे थे।

श्री तिवारी ने कहा कि एनडीए की जहां-जहां सरकार है वहां दलितों, पिछड़ों, अतिपिछड़ों और अल्पसंख्यकों पर जुल्म हो रहे हैं, यहां तक की उत्तर प्रदेश में जितने भी एनकाउंटर हुए हैं। उसमें मुस्लिम, दलित, यादव एवं अतिपिछड़ा वर्ग के लोग ही शामिल हैं। यही हाल बिहार में शराबबंदी कानून के लागू होने के बाद हुआ जिसमें करीब एक लाख 6 हजार लोग गिरफ्तार हुए हैं। इसमें 90 प्रतिशत लोग दलित समुदाय से आते हैं। शराब बंदी में जितनी भी गिरफ्तारियां हुई हैं। इसे देखा जाय तो वह इमरजेंसी से भी ज्यादा है। अभी तक 89 हजार मुकदमें दर्ज हुए हैं तथा 50 लोगों को सजा भी हुई है। सजा पाने वालों में मुसहर समाज के लोग ज्यादा हैं यही हाल बालू बंदी के कारण भी हुआ है। राज्य में दलित, अतिपिछड़ा वर्ग के लोग बेरोजगार हुए हैं। राज्य में बेरोजगारी तो बढ़ी ही है साथ ही साथ सरकारी राजस्व की भी हानि हुई है। हमारी सरकार बनेगी तो शराब बंदी के जो नकारात्मक पक्ष है। जिसके कारण दलित वर्ग के 90 प्रतिशत लोग जेल में बंद हैं। उस पक्ष को हटाने के लिए यानी कड़े प्रवधान को हटाने के लिए कमेटी बनायी जायेगी। बिहार में होने वाले उपचुनाव में अररिया, जहानाबाद एवं भभुआ में हमलोग चुनाव जीत रहे हैं। नरेन्द्र मोदी जी कह रहे हैं कि पूर्वोत्तर में सूर्योदय हुआ है जिसका रंग केसरिया है तो उनको बता देना चाहता हूं कि सूर्योदय के बाद सूर्यास्त भी होता है। और उनका सूर्यास्त 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव में बिहार से ही होगा। उनका सूर्य डूबेगा और वे सत्ता से बाहर होंगे।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *