बालू पर राजनीति कर रही है सरकार – रघुवंश

राजद के वरिष्ठ नेता डॉ. रघुवंश प्रसाद सिंह ने नीतीश सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि राज्य सरकार की मजदूर विरोधी खनन नीति के कारण हुए बालू-गिट्टी संकट से राज्य की अर्थव्यवस्था दिनों-दिन बिगड़ती जा रही है, लेकिन सरकार इस पर कुछ नहीं करती। उन्होंने कहा न सिर्फ मजदूर, निर्माण कार्य बल्कि होटल, ढाबा, पेट्रोल पंप सब प्रभावित हुए हैं।

गर्दनीबाग में आयोजित बालू-गिट्टी संकट के खिलाफ धरना को संबोधित करते हुए डॉ. रघुवंश प्रसाद सिंह ने कहा कि करनी-बसूली लेकर मजदूर बैठे हैं। इस वजह से भ्रष्टाचार में वृद्धि हो गयी है। उन्होंने कहा बालू बंदी से सब जगह हाहाकार मचा है। अगर ऐसे ही चलता रहा तो बिहार विकास कम, महामारी ज्यादा होगी। उन्होंने कहा सरकार को जल्द से जल्द कुछ करना चाहिए।

बालू संकट पर बोलते हुए राजद के वरिष्ठ नेता राम बदन राय ने कहा कि नीतीश सरकार बालू मामले पर हठधर्मिता पर अड़ी हुई है। इस वजह से लाखों मजदूर, ट्रांसपोर्टर, व्यवसायी, युवा बेरोजगारी का सामना कर रहे हैं, जिन ट्रांसपोर्ट मालिकों ने बैंकों से लोन लेकर गाड़ियां खरीदी थी वे सब बैंकों के कर्जे में डूबे हुए हैं। सब काम ठप पड़ा हुआ है। इससे हताशा जैसी स्थिति बनती जा रही है। इस क्षेत्र से जुड़े सभी कमजोर वर्ग के लोगों को भुखमरी का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि हाइकोर्ट व सुप्रीमकोर्ट के आदेश के बाद भी राज्य सरकार बेतुके फरमान जरी कर रही है। सरकार के इसी रवैय्ये के खिलाफ और बालू संकट की समस्या से जूझ रहे लोगों के हित में राजद ने 21 दिसंबर को बिहार बंद का आह्वान किया है।

आज निकाला जाएगा मशाल जुलूस-

राजद के बिहार बंद को लेकर नुक्कड़ सभा और मशाल जुलूस का आयोजन बुधवार को सभी जिलों में आयोजित किया जाएगा।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *