पत्थलगड़ी के खिलाफ सरकार सख्त, विपक्ष नरम

पत्थलगड़ी को लेकर सरकार का रवैया जहां एक ओर सख्त है वहीं दूसरी ओर विपक्षी पार्टियों ने इसके खिलाफ नरम रुख अपना रखा है। नेता प्रतिपक्ष हेमंत सोरेन ने कहा है कि सदियों से इस झारखंड में आदिवासियों की कुछ परंपरा बरकरार बनी हुई है।
रघुवर सरकार लगातार जनविरोधी निर्णय ले रही है।
हेमंत ने कहा है कि पत्थलगड़ी मामले में सरकार दिल और दिमाग से सोच कर अमन शांति ला सकती है, न की जबरदस्ती से। उन्होंने कहा कि सरकार को पत्थलगड़ी मामले के पीछे क्या राज छिपा है, लगातार जनविरोधी निर्णय लेने से आदिवासियों और मूलवासियों के बीच आक्रोश फैलता जा रहा है । सोरेन ने कहा कि इन आक्रोश में क्या-क्या मामला पनप रही है, सरकार को बारिकी से समझना होगा।
उधर, मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा है कि खूंटी के भोले-भाले आदिवासियों को विकास से दूर रखकर संविधान विरोधी काम करवाया जा रहा है। जिसे कोई भी स्वीकार नहीं कर सकता। उन्होंने खूंटी की जनता से अपील की है कि विधि सम्मत कार्रवाई की जाएगी। वह हिंसा का रास्ता छोड़कर लोकतंत्र में संवाद का रास्ता अपनाएं। तभी समस्या का समाधान किया जा सकेगा। अगर वहां भी चुनौती दी जाएगी तो हमारी पुलिस चुनौती देने वाले को पाताल से भी खोज कर निकाल लेगी।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *