तोड़फोड़ या हिंसा फैलानेवाले बख्शे नहीं जाएंगेः एसकेजी रहाटे

गृह, कारा एवं आपदा प्रबंधन विभाग के प्रधान सचिव एसकेजी रहाटे ने कहा कि बंद से लोग डरे नहीं अपना सामान्य दैनिक जीवन का कार्य करें प्रशासन की चाक चौबंद व्यवस्था रहेगी। यदि अमनपसंद लोगों को उनके कार्यों में किसी प्रकार की बाधा पहुंचाने की कोशिश बंद समर्थकों द्वारा की जाती है, या विध्वंसक कार्रवाई की जाती है तो उनके विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की जाएगी। चाहे कोई भी हो उसे बख्शा नहीं जाएगा।

ये बातें गृह विभाग के प्रधान सचिव एसकेजी रहाटे और पुलिस महानिदेशक डीके पांडेय ने आज सूचना भवन में कल होने वाले राज्य स्तरीय बंद को देखते हुए पुलिस की तैयारियों के संबंध में संयुक्त रूप से मीडिया को संबोधित करते हुए कही।

प्रधान सचिव ने कहा कि बंद में यदि किसी प्रकार की हिंसा या सरकारी संपत्ति की क्षति होती है तो उसकी क्षति-पूर्ति बंदी का आह्वान करने वाले नेताओं से वसूला जाएगा।

उन्होंने कहा कि 5 जुलाई को राजनीतिक दलों द्वारा झारखण्ड बंद का आह्वान किए जाने के मद्देनजर झारखंड सरकार ने उपद्रवियों से निपटने के लिए व्यापक इंतजाम किए हैं। बंद से निपटने के लिए कुल 5000 से अधिक की संख्या में पुलिस बल एवं पदाधिकारियों को विधि व्यवस्था संभालने के लिए लगाया गया है। इसके अलावा रैफ की दो कंपनियां, रैप की 6 कंपनियां, 3100 होमगार्ड के साथ-साथ टीयर गैस और राइट कंट्रोल यूनिट की तैनाती की गई है।

इस अवसर पर डीजीपी डीके पांडेय ने कहा कि बंद से निपटने के लिए पुलिस विभाग पूरी तरह मुस्तैद है। उन्होंने कहा कि हमारे द्वारा सभी संवेदनशील स्थानों पर विशेष निगरानी रखते हुए आवश्यकतानुसार बलों की प्रतिनियुक्ति की गई है। उन सभी संवेदनशील स्थानों पर सीसीटीवी एवं वीडियोग्राफी की व्यवस्था के साथ-साथ वॉचरों को भी प्रतिनियुक्त किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि बंद समर्थक युवाओं के मोटरसाइकिल दस्ता पर विशेष निगरानी रखी जाने तथा उन्हें नियंत्रित करने के लिए सभी चिन्हित संवेदनशील स्थानों पर पुलिस की मोटरसाइकिल दस्ते की क्यू.आर.टी. रखी जाएगी। उन्होंने बताया कि सभी पी.सी.आर. वाहन, थानों के मोबाइल वाहन, क्यू.आर.टी. जिला बल को माईक सेट, वीडियो कैमरा, टीयर गैस गन एवं राईट कंट्रोल से सम्बंधित सभी साजो- समान से लैस रहने का आदेश दिया गया है।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *