निकाय चुनावः गिरिडीह में आ सकते हैं चौंकाने वाले रिजल्ट!

सूबे में नगर निकाय चुनाव का प्रचार कल शाम थम जाएगा। 16 अप्रैल को सभी प्रत्याशियों की किस्मत ईवीएम में बंद हो जाएंगे। गिरिडीह नगर निगम का चुनाव प्रचार में भी सभी दलों के प्रत्याशियों ने पूरा जोर लगा दिया है। पहली बार दलीय आधार पर हो रहे 36 वार्डों वाले नगर निगम के मेयर व डिप्टी मेयर पद के लिए चुनाव मैदान में डटे सभी प्रत्याशियों ने वोटरों को रिझाने के लिए हर संभव कोशिश की है। प्रत्याशियों ने लोगों के घर-घर जाकर चुनाव प्रचार किए। मेयर पद पर बीजेपी के सुनील पासवान, झामुमो की प्रमिला मेहरा, झाविमो के संजय दास, आजसू के जीवन दास, राजद के नंद लाल रविदास, बसपा के शिवकुमारदास, कांग्रेस के समीर राज चोधरी, समेत 19 प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं।

वहीं डिप्टी मेयर पद के लिए झामुमो के दीपक यादव, बीजेपी के प्रकाश राम, झाविमो के नवीन सिन्हा, कांग्रेस के मो. इसतियाक, आजसू के रविकांत सिंह, बसपा के अफताब आलम, निदेलिय विनय सिंह सहित 12 प्रत्याशी अपना भाग्य आजमा रहे हैं। देखा जाय तो मेयर और डिप्टी मेयर के पद पर त्रिकोनीय मुकाबले की स्थिति बनती दिख रही है। जानकारों की मानें तो मेयर और डिप्टी मेयर दोनों सीटें किसी एक ही दल के झोली में जाएगी इसकी संभावना कम है। उधर, कहा जा रहा है कि चुनाव मैदान में कुछ निर्दलीय प्रत्याशी भी ऐसे हैं जो दलीय उम्मीदवारों का खेल बिगाड़ सकते हैं। वैसे चुनाव प्रचार की बात करें तो बीजेपी और झामुमो में ही मुख्य रुप से टक्कर नजर आ रही है। बीजेपी की और से जहां रघुवर सरकार की मंत्री डॉ नीरा यादव, रामचन्द्र चद्रवंशी इलाके के दोनों सांसद डॉ रविन्द्र राय, रविन्द्र पाण्डेय, विधायक विरंची नारायण, निर्भय शाहाबादी, केदार हाजरा, नागेंन्द्र महतो, प्रो जय प्रकाश वर्मा, पूर्व मंत्री चन्द्र मोहन प्रसाद ने प्रचाक किया तो वहीं झामुमो के दोनों प्रत्याशियों के पक्ष में नप के पूर्व चेयरमैन, सुदीप सोनू, संजय सिंह और अन्य नेताओं ने रोड शो कर चुनाव प्रचार किया है। अब देखना दिलचस्प होगा कि जनता किसके सिर पर ताज रखती है।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *