काम में दिखानी होगी पूरी मुस्तैदी : पीएम मोदी

-प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भाजपा शासित मुख्यमंत्रियों को दिया चुनावी मंत्र

अगामी लोकसभा चुनाव को लेकर भाजपा अभी से ही एक्शन में हैं। चुनाव अभी दो साल दूर हैं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अभी से पूरी तरह चुनावी तैयारी में जुट गए हैं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने बीजेपी शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों व उपमुख्यमंत्रियों से कहा है कि वे गरीब कल्याण को केंद्र में रखकर ही अपनी योजनाएं बनाएं और लागू करें। मिशन 2019 को ध्यान में रखते हुए इस बैठक में राज्य प्रमुखों को यह भी सलाह दी गई कि वे इस बात पर फोकस करें कि जनता तक उनका काम पहुंचे और ऐसा कोई कदम न उठाया जाए, जिससे पार्टी और सरकार की साख को नुकसान पहुंचे। बैठक में राज्यों के मुख्यमंत्रियों व उपमुख्यमंत्रियों से उनके राज्य में किए गए कामकाज का भी ब्योरा भी लिया गया।

बीजेपी मुख्यालय में लगभग चार घंटे तक चली इस मैराथन बैठक में 2022 तक न्यू इंडिया के कॉन्सेप्ट पर प्रधानमंत्री ने बैठक में मौजूद नेताओं को स्पष्ट कर दिया कि आने वाले वक्त में इसी पर फोकस करते हुए योजनाओं को तैयार करने की जरूरत है। बीजेपी सूत्रों का कहना है कि इस बैठक में पहले राज्यों की ओर से उन योजनाओं की जानकारी दी गई, जो उन्होंने लागू की हैं। राज्यों से कहा गया है कि वे अपने-अपने राज्यों में लागू अनूठी योजनाओं को साझा करें, जो लोकप्रिय हुई हों ताकि ऐसी योजनाएं दूसरे राज्यों में भी लागू किया जा सके। बैठक में राज्यों से केंद्र की योजनाओं के बारे में भी फीडबैक लिया गया और पूछा गया कि केंद्र की योजनाओं को लागू करने में अगर उन्हें किसी तरह की परेशानी हो रही हो तो बताएं।
सूत्रों का कहना है कि उन्होंने बैठक में कहा कि अगले चुनाव में लोगों की नजर केंद्र की सरकार के साथ ही राज्यों की भाजपा सरकारों के काम-काज पर भी होगी। इसलिए सभी को अपने काम में पूरी मुस्तैदी दिखानी होगी।

इस बैठक में 2022 को लेकर भी बात हुई। मोदी और शाह की ओर से बताया गया कि राज्यों को 2022 तक न्यू इंडिया और किसानों की आय डबल करने के लिए काम किया जाना चाहिए। जनता को यह बताना चाहिए कि 2022 तक सरकार न्यू इंडिया बनाना चाहती है। जिसमें युवाओं को नए तरह से रोजगार देने और उन्हें मुद्रा योजना के जरिए अपने पांव पर खड़ा करने की योजनाओं की जानकारी देना भी शामिल है। इस दौरान यह तय हुआ कि 17 कल्याणकारी योजनाओं और विकास कार्यों को आम जनता तक पहुंचाने के लिए पार्टी सुशासन यात्रा निकालेगी।

पार्टी सूत्रों के मुताबिक, इशारों ही इशारों में यह भी कहा गया कि राज्य अगले विधानसभा और लोकसभा चुनाव को लेकर अभी से अपनी तैयारी करें। दरअसल, 2019 में लोकसभा चुनाव होने हैं, जबकि इससे पहले छत्तीसगढ़, राजस्थान, मध्यप्रदेश समेत कई बीजेपी शासित राज्यों के विधानसभा चुनाव भी होने हैं। इस बैठक में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, गृहमंत्री राजनाथ सिंह, पार्टी के संगठन मंत्री रामलाल के अलावा रमन सिंह, शिवराज सिंह चौहान, देवेन्द्र फडनवीस, मनोहर लाल खट्टर, रघुवर दास, वसुंधरा राजे सिंधिया समेत लगभग सभी मुख्यमंत्रियों के अलावा बीजेपी के उपमुख्यमंत्री भी शामिल हुए।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *