इमरजेंसी देश के इतिहास का काल दिनः पीएम मोदी

देश में सियासत वैसे ही गरमायी हुई है और आज इमरजेंसी के 43 वर्ष होने पर भला बीजेपी इस मौके को क्यों जाने देती। कांग्रेस के खिलाफ खूब बयानबाजी हुई और पार्टी द्वारा इमरजेंसी लगाए जाने को जमकर कोसा गया।
पीएम मोदी ने भी इस मौके पर कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा। पीएम ने इमरजेंसी को इतिहास का काला दिन बताते हुए कहा इससे देश में डर का माहैल पैदा हो गया था। लोग सहम गए थे। इस दौरान हर संवैधानिक संस्थानों को नेस्तनाबूद कर दिया गया था।
मोदी ने सोशल मीडिया के जरिए कहा कि इमरजेंसी के दौरान न केवल लोगों को डराया गया बल्कि लोगों के विचारों और कलात्मक स्वतंत्रता को सत्ता की राजनीति के लिए बंधक बना लिया गया था।
मोदी ने कहा, मैं उन सभी महिलाओं और पुरुषों के साहस को सलाम करता हूं, जिन्होंने 43 साल पहले लगाए गए इमरजेंसी का दृढ़तापूर्वक विरोध किया था। उन्होंने इस दौरान उनके द्वारा किए गए संघर्षों को याद किया और उन लोगों के जज्बे को सलाम किया।
बता दें कि 43 साल पहले 25- 26 जून 1975 की रात को इमरजेंसी लगाई गई थी। जो 21 मार्च 1977 तक यानी 21 महीने तक जारी रही। उस समय तत्कालीन राष्ट्रपति फ़ख़रुद्दीन अली अहमद ने तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के कहने पर भारतीय संविधान की धारा 352 के अधीन आपातकाल की घोषणा कर दी।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *