रघुवर दास के दरोगागिरी से झांसे में नहीं आएगी जनता: डॉ अजय

रघुवर सरकार किसानों, गरीबों के लिए नहीं बल्कि कारपोरेट घरानों के लिए काम कर रही है. कभी गोली तो, कभी लाठी के दम पर औने -पौने दाम पर जबरन किसानों की जमीन छीन रही है. मुख्यमंत्री रघुवर दास ने अपने मनमुताबिक सरकारी नियमों को ताख पर रख कर प्राइवेट कम्पनियों के हाथों जमीन सौंप रही है. ये बातें झारखंड कांग्रेस के नए अध्यक्ष डॉ अजय कुमार ने बुधवार को पत्रकारों को कही.

डॉ अजय ने कहा कि राज्य सरकार के दो वरिष्ठ मंत्रियों के विरोध के बावजूद मुख्यमंत्री रघुवर दास ने अक्षय पात्रा फाउंडेशन को बुंडू में मात्र एक रुपए में 62.26 एकड़ जमीन दे दी. इस जमीन को पहले पंतजलि को 9.44 करोड़ में भू-राजस्व विभाग ने देने की अनुशंसा की थी. हालांकि तमाम नोटिस के बाद भी पंतजलि ने इस मामले में जब कोई पहल नहीं की तो इसे अब अक्षय पात्रा फाउंडेशन के नाम कर दिया गया है.

रघुवर दास पर सीधा हमला बोलते हुए कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि मुख्यमंत्री एक खास साजिश के तहत किसानों की जमीन उद्योगपतियों को दे रहे हैं. चाहे वह गोड्डा में अडानी को जमीन देने का मामला हो या बडकागांव में ग्रामीणों से जोर-जबरदस्ती जमीन लेने के लिए प्रदर्शन कर रहे लोगों पर गोली चलाना. यह सरकार लोगों की जमीन हड़प पर उद्योगपतियों को देना चाहती है. उन्होंने बताया कि यूपीए के शासन में किसानों को जमीन का चार गुना कीमत देना तय किया गया था, पर वर्तमान सरकार ने साजिश के तहत जमीन का सरकारी दर ही कम कर दिया है. जिसका खामियाजा आम किसानों को भुगतना पड़ रहा है.

डॉ अजय ने मुख्यमंत्री पर तंज कसते हुए कहा कि रघुवर दास आजकल ट्रैफिक मैनेजमेंट में लगे हुए हैं. यह काम किसी सीएम का नहीं है. इसके लिए राज्य में अधिकारी मौजूद हैं. दरअसल रघुवर दास अपने सरकार की नाकामियों को छिपाने के लिए और आम लोगों का ध्यान भटकने के लिए सड़क पर दरोगागिरी कर रहे हैं. पर उनके इस नाटक को जनता खूब समझती है. अब उनके झांसे में आने वाली नहीं है. इससे काम नहीं चलने वाला लोगों को जमीन पर काम दिखाई देना चाहिए.

कांग्रेस अध्यक्ष ने केंद्र की नरेन्द्र मोदी सरकार पर भी हमला बोला कहा कि पीएम मोदी की सरकार सूट-बूट की सरकार है. अपने कामकाज से इस सरकार ने साबित कर दिया है कि यह जुमले बाजी की सरकार है. राफेल डील पर सरकार को घेरते हुए उन्होंने कहा कि पीएम मोदी के इशारे पर 65 हजार करोड़ का घोटाला हुआ है. इसके साथ ही सरकार ने भारत की पब्लिक सेक्टर क्षेत्र की बड़ी कंपनी को दरकिनार कर आश्चर्यजनक रूप से अनिल अंबानी के साथ रक्षा का महत्वपूर्ण समझौता कर रहे है. उन्होंने कहा की अनिल अंबानी ने हाल ही में अपने टेलीफोन कारोबार को समेटा है जिससे हजारों लोगों की छटनी की गयी है. उन्होंने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार हो या राज्य की रघुवर सरकार दोनों लोगों को वायदे दिखा कर गुमराह कर रही है. आम लोग आज भी अच्छे दिन के इंतजार में हैं.

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *