मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के काफिले पर जानलेवा हमला

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के काफिले पर जानलेवा हमला हुआ है। बक्सर के नंदर गांव में समीक्षा यात्रा के दौरान उपद्रवियों ने उनके काफिले पर पत्थर बरसाए। मुख्यमंत्री की सुरक्षा में तैनात जवानों ने उन्हें तो सुरक्षित बचा लिया लेकिन इस क्रम में कुछ सुरक्षाकर्मी घायल हो गए। नंदर गांव वालों का आरोप है कि मुख्यमंत्री के सात निश्चय कार्यक्रम के तहत कोई भी काम उस गांव में नहीं हुआ था। इससे गांव वाले नाराज थे। पत्थरबाजी वाली जगह से करीब दो किलोमीटर दूर हरियाणा फर्म पर सीएम की सभा होनी थी।

खबरों के मुताबिक, समीक्षा यात्रा पर निकले मुख्यमंत्री को कुछ लोग दलित बस्ती लाने की मांग कर रहे थे ताकि मुख्यमंत्री वहां का विकास देख सकें। इसी बात पर विवाद हो गया। फिर स्थानीय लोगों ने वहां से गुजर रहे सीएम के काफिले पर पत्थरबाजी शुरू कर दी। सुरक्षाकर्मियों ने आनन-फानन में सीएम के काफिले को वहां से निकाला। बता दें कि नीतीश कुमार राज्य में चल रही विकास योजनाओं और कार्यों की समीक्षा के लिए समीक्षा यात्रा पर निकले हैं। इस क्रम में वो हर जिले के सुदूर गांवों में जाकर विकास कार्य की समीक्षा कर रहे हैं।

गौरतलब है कि नीतीश कुमार की समीक्षा यात्रा में सीएम को पहले भी लोगों के वरोध का सामना करना पड़ा है। मध्य दिसंबर में समीक्षा यात्रा के दौरान सीएम को मधुबनी में वित्त रहित शिक्षकों के विरोध का सामना करना पड़ा था। उन्हें वित्त रहित शिक्षकों ने काले झंडे दिखाए थे। जब सीएम ने भाषण देना शुरू किया तभी शिक्षकों ने काले झंडे दिखाकर उनका बहिष्कार किया था। राज्य के पूर्व उप मुख्यमंत्री और विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव भी आरोप लगाते रहे हैं कि मुख्यमंत्री विकास की समीक्षा नहीं बल्कि वोटों की समीक्षा यात्रा पर निकले हैं। इसलिए उन्हें जगह-जगह लोगों का विरोध झेलना पड़ रहा है। उन्होंने तंज कसा था कि अगर नीतीश कुमार ने विकास किया होता तो विरोध का सामना करना नहीं पड़ता।

मुख्यमंत्री की समीक्षा यात्रा का चौथा चरण 12 जनवरी से शुरू हुआ है। बक्सर के बाद दोपहर में कैमूर के अहिनेरा गांव जाएंगे। 13 जनवरी को सीएम सासाराम के रेहल और भोजपुर के दावा गांव में विकास योजनाओं की समीक्षा, उद्घाटन और शिलान्यास करेंगे। फिर जनसभा को बी संबोधित करेंगे। यात्रा का पांचवां चरण 16 जनवरी को गया से शुरू होगा।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *