चक्रवाती तूफान ‘फानी’ हुआ विकराल, बिहार, झारखंड में दिखेगा इसका असर

चक्रवाती तूफान फानी का असर दिखने लगा है ओडिशा के समुद्री तट पर बारिश की शुरुआत हो गई है। बता दें कि फानी पुरी के दक्षिण-पश्चिम में 420 किमी दक्षिण-पश्चिम में स्थित है।

चक्रवाती तूफान ‘फानी’ की गंभीरता को देखते हुए भारतीय रेलवे ने लगभग 100 ट्रेनों को रद्द कर दिया है। राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण(एनडीएमए) के अनुसार सुरक्षा बलों को हाई अलर्ट पर रखा गया है। ओडिशा के तटीय इलाकों में रह रहे लोगों को सुरिक्षत स्थानों पर शिफ्ट किया जा रहा है। नौसेना, भारतीय वायु सेना, तटरक्षक बलों को भी किसी भी चुनौती से निपटने के लिए तैयार रखा गया है।

ओडिशा के भद्रक, आंध्रप्रदेश के विजयनगर के बीच चलने वाली ट्रेनों को रद्द कर दिया गया है। साथ ही भुनेश्वर और पुरी की ओर जाने वाली सभी ट्रेनों को आज शाम यानि 2 मई की शाम से रोक दिया जायेगा। आपको बता दें कि तटीय आंध्रप्रदेश, असम, मेघालय, नागालैंड, मिजोरम, त्रिपुरा, जम्मू कश्मीर, पश्चिम बंगाल, सिक्किम के छिटपुट स्थानों पर भी 40 से 50 किलोमीटर घण्टा की रफ्तार से आंधी तूफान चलने की आशंका है।

चक्रवाती तूफान फानी के प्रभाव में झारखंड भी आ गया है। फानी के असर से 4 और 5 मई को झारखंड में मूसलाधार बारिश हो सकती है। मौसम विज्ञान केंद्र के अनुसार फानी चक्रवात अभी बंगला की खाड़ी में है। यह चक्रवात ओडिशा कोस्ट के आगे बढ़ रहा है। 4 मई को ओडिशा के तट पहुंचेगा। इसका असर 3, 4 और 5 मई को झारखंड में दिखेगा। फानी तुफान से झारखंड के लोगों को गर्मी से राहत मिलेगी। राज्‍य के कई इलाकों में मध्‍यम से तेज बारिश भी हो सकती है।

फानी तूफान का असर बिहार में भी देखा जाएगा। मौसम विभाग की माने तो बिहार में 4 मई को सभी जिलों में बादल छाए रहेंगे। चक्रवाती तूफान के कारण 4 तारीख को पटना, भगलपुर, मुजफ़्फ़रपुर, दरभंगा में आंधी बारिश की संभावना बनी हुई है। तूफान को लेकर पटना से एर्नाकुलम जाने वाली ट्रेन को रद्द कर दिया गया है।

गौरतलब है कि भारतीय मौसम विभाग के अनुसार ‘फानी’ 43 सालों में भारतीय समुद्री क्षेत्र में अप्रैल माह में बनने वाला इस साल का पहला चक्रवाती तूफान है। गर्मी के मौसम में इस तरह के तूफान बहुत  कम बनते हैं।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *