सरकार बनाने के लिए हाफिज सईद का सहारा भी ले सकती है कांग्रेस : नितिन पटेल

गुजरात विधानसभा चुनाव को लेकर राजनीति तेज हो गई है। जहां एक ओर कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी की पाटीदार नेता हार्दिक पटेल से मुलाकात पर सस्पेंस बना हुआ है, वहीं गुजरात के डेप्युटी सीएम नितिन पटेल ने कांग्रेस के वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) को गब्बर सिंह टैक्स बताने वाले बयान पर तीखा हमला किया है। नितिन पटेल ने कहा कि गुजरात में सरकार बनाने के लिए कांग्रेस आतंकियों को भी न्योता भेज सकती है। यहां तक कि कांग्रेस हाफिज सईद जैसे आतंकियों से भी हाथ मिला सकती है, अगर उसे लगा कि वह राज्य में सरकार बनाने में उसकी सहायता करेंगे।

पटेल की इस प्रतिक्रिया से पहले कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने गांधीनगर में सोमवार को केंद्र सरकार की आर्थिक नीतियों की कड़ी आलोचना की थी। यहां आयोजित नवसर्जन जनादेश महासम्मेलन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तंज कसते हुए उन्होंने कहा था कि जीएसटी कांग्रेस द्वारा प्रस्तावित कर नहीं है, बल्कि यह इनका जीएसटी गब्बर सिंह टैक्स है। इतना ही नहीं, राहुल ने आरोप लगाया कि केंद्र सरकार देश भर में टैक्स टेररिज्म फैला रही है।

पटेल ने दावा किया कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के नेतृत्व वाली पार्टी चुनाव जीतने के लिए हाफिज सईद जैसे आतकियों से हाथ मिलाने के लिए नहीं झिझकेगी। ओबीसी नेता अल्पेश ठाकुर के कांग्रेस में शामिल होने पर उन्होंने बताया कि अगर कांग्रेस को लगा कि वह पाकिस्तान के आतंकियों, जैसे कि हाफिज सईद या किन्हीं और आतंकियों से हाथ मिलाकर विधानसभा चुनाव जीत सकती है, तो वह उन्हें बगैर किसी झिझक के उन्हें न्योता भेज देगी।

ठाकुर सोमवार को राहुल गांधी की उपस्थिति में पार्टी में शामिल हुए हैं। कांग्रेस ने पटेल की इस टिप्पणी के पीछे भाजपा के चुनाव हारने के डर को वजह बताया है। गुजरात कांग्रेस प्रवक्ता मनीष दोषी ने कहा कि भाजपा को सत्ता से बाहर जाने का डर सता रहा है, इसलिए वह इस तरह से बात कर रही है। आतंकी मसूद अजहर को भाजपा ने रिहा कराया था। नितिन पटेल अपना मानसिक संतुलन खो चुके हैं।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *