घोषणा पत्र के जरिये जनता से जुड़ने की कोशिश में कांग्रेस

कांग्रेस छत्तीसगढ़ में नए स्ट्रेटजी के तहत काम कर रही है. राज्य में लगातार हार का सामना कर रही पार्टी ने एक अलग आइडिया पर काम करने की ठानी है. राज्य में होनेवाले आगामी चुनावों के मद्देनजर कांग्रेस ने जनता से सीधे जुड़ने की कोशिश में घोषणा पत्र के लिए आम जनता से ही राय मांगी है. बताते चलें कि छत्तीसगढ़ में इस वर्ष के अंत में विधानसभा के चुनाव होंने हैं. राज्य के मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस ने इसे ध्यान में रखते हुए घोषणा पत्र की तैयारी शुरू कर दी है. कांग्रेस विधायक दल के नेता और घोषणा पत्र समिति के अध्यक्ष टीएस सिंहदेव ने पार्टी के चुनावी घोषणा पत्र में आम लोगों की सहमति के लिए जनता से ही राय मांगने का फैसला किया है.

सिंहदेव ने आज यहां कहा कि घोषणा पत्र आम जनता के लिए ही बनाया जाता है. अधिक सूचना विभिन्न समूहों और संगठनों से मिल सकती है जिन्हें धरातल की स्थितियों की जानकारी राजनेताओं से बेहतर होती है, और वे शासन की नीतियों से भी प्रभावित होते हैं. उन्होंने कहा ‘‘मेरा मानना है कि हम उनसे (जनता से) सलाह लेकर कोई नीति बनाते हैं तो वह जनउपयोगी हो सकती है.’’ उन्होंने कहा कि घोषणा पत्र के संबंध में सुझाव संगठन के माध्यम से और व्यक्तिगत भी दी जा सकते हैं. इसके लिए एक ऑनलाइन पोर्टल तैयार किया जा रहा है तथा व्हाट्सएप्प का भी इस्तेमाल किया जाएगा. सुझाव से जानकारी मिल सकेगी कि संसाधनों को कैसे विकसित किया जा सकता है तथा कहां अनावश्यक खर्च हो रहा है.

इससे जानकारी मिल सकेगी कि राज्य में विभिन्न संगठनों जैसे कोटवारों, आंगनबाड़ी सहायिकाओं और मजूदरों की क्या स्थिति है. यह भी पता चल सकेगा कि शासन की योजनाओं की क्या स्थिति है. सिंहदेव ने बताया कि जनता से सुझाव लेने के लिए कार्यालय बनाया गया है तथा एक व्यक्ति को तैनात किया गया है. उन्होंने बताया कि जल्द ही प्रत्येक जिले के कांग्रेस के पदाधिकारी आम लोगों से मिलेंगे. राज्य में पिछले 14 वर्ष से भारतीय जनता पार्टी की सरकार है और कांग्रेस को लगातार तीन चुनावों में हार का सामना करना पड़ा है.

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *