BJP आगे पर विपक्ष भी पीछे नहीं

झारखंड में नगर निकाय के चुनाव में बीजेपी ने 34 निकायों में से 21 में जबर्दस्त जीत दर्ज की है। महीने भर से लगाए जा रहे कयासों पर विराम लग गया है। नगर निकाय के इस चुनाव को आगामी विधानसभा और लोकसभा चुनाव के पहले का सेमीफाइनल कहा जा रहा था। इस लिहाज से देखा जाय तो बीजेपी ने अपने विरोधियों को तो जरूर चुप करा दिया है। शहर में उसने सरकार तो बना ही ली है।

बहरहाल, इन सब के बीच बीजेपी अगर इस मुगालते में रहती है कि विपक्ष कमजोर हो गया है या बीजेपी के सामने विपक्ष टिक नहीं पाएगा तो उसे आगामी चुनाव में झटका लग सकता है। जानकारों की मानें तो निकाय चुनाव के रिजल्ट पर अगर नजर दौड़ायी जाय तो नगर निगमों में तो पांचों जगहों पर बीजेपी ने जरूर बाजी मार ली है लेकिन नगर परिषद और नगर पंचायत में स्थिति उतनी उत्साहजनक नहीं है। शहरों को छोड़ दिया जाए तो कस्बों में बीजेपी की पकड़ ढीली पड़ी है। यहां ये समझना जरूरी है कि विपक्ष एक छतरी के नीचे खड़ा नहीं था। झामुमो, कांग्रेस, राजद, झाविमो ने निकाय चुनाव में कोई समझौता नहीं किया था। इसलिए इनके वोटों में बिखराव ने भी बीजेपी की जीत में इजाफा किया। बीजेपी नेता ये कह सकते हैं कि बीजेपी ने भी अकेले दम पर चुनाव लड़ा। पर उनकी सहयोगी पार्टी आजसू का चुनावी गणित कुछ अलग ही है। हालांकि, आजसू ने भी अपने प्रभाव वाले क्षेत्र में बीजेपी को जोरदार पटखनी दी है।

जानकारों की मानें तो विधानसभा और लोकसभा चुनाव में स्थिति अलग होगी, वहां सारी विपक्ष पार्टियां महागठबंधन के तहत एक प्लेटफॉर्म के नीचे होंगी। इसलिए बीजेपी के आगे चुनौती भी बड़ी होगी और विपक्ष का ताकत इस निकाय चुनाव से कहीं ज्यादा होगी।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *