चीन ने कहा- भारत-पाकिस्तान के बीच मध्यस्थता कराएंगे

भारत ने जब पाकिस्तान के खिलाफ कड़ा रुख अपनाया तो चाइना भी भारत से नरमी पर उतर आया है. वर्तमान समय में चाइना का भी सुर बदल गया है. इस बेच चीनी सरकार ने साफ कहा है कि हम तनाव कम करने के लिए दोनों देशों के बीच मध्यस्थता करने को तैयार हैं. रिपोर्टस के मुताबिक, दोनों देशों के बीच मध्यस्थता करने के लिए चीन ने बातचीत के लिए भारत और पाकिस्तान में दूत भी भेजे हैं. चीन ने कहा है कि हम इस मामले को लेकर सकारात्मक भूमिका निभा रहे हैं.

चीन की सरकार का ये बयान ऐसे समय आया है जब भारत पाकिस्तान से लगातार पुलवामा आतंकी हमले के मास्टरमाइंड और जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर पर कड़ी कार्रवाई करने की मांग कर रहा है. बड़ी बात यह है कि यूएन में चीन अपने वीटो पावर का इस्तेमाल करके लगातार मसूद अजहर को अंतरराष्ट्रीय आतंकवादी घोषित करने की भारत की कोशिश पर पानी फेरता रहा है.



हालांकि कल खबर आई थी कि संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तान जैश-ए-मोहम्मद चीफ मसूद अजहर को अंतरराष्ट्रीय आतंकी घोषित करने का विरोध नहीं करेगा. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, यूएन में फ्रांस, ब्रिटेन और अमेरिका ने जैश के मुखिया मसूद अजहर अंतरराष्ट्रीय आतंकी घोषित करने के प्रस्ताव का विरोध नहीं करने का फैसला लिया है. इतना ही नहीं खबर यह भी है कि पाकिस्तान मसूद और उसके आतंकी संगठन पर कार्रवाई भी कर सकता है.

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *