उपचुनाव के परिणाम हमारे लिए सबकः CM Yogi

यूपी उपचुनाव में बीजेपी को अप्रत्याशित हार मिली है सूबे की सबसे हाई प्रोफाइल सीटें पार्टी के हाथों से चली गई हैं। कहा जा रहा है कि इस हार को सूबे के नेतृत्व पर भी सवाल उठना लाजिमी है क्योंकि ये दोनों सीटें हैं सीएम योगी आदित्यनाथ की गोरखपुर और डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य की फूलपुर। पार्टी की हार के बाद योगी आदित्यनाथ ने कहा, 'जनता ने अप्रत्याशित फैसला दिया है। हम जनता के फैसले को स्वीकार करते हैं।' उन्होंने कहा कि यूपी में राजनीतिक सौदेबाजी हुई। उन्होंने कहा हम लोगों ने पूरी मेहनत की लेकिन क्या कमी रही इसकी हम समीक्षा करेंगे। योगी आदित्यनाथ ने कहा, 'लोकसभा उपचुनाव के परिणाम हमारे लिए एक सबक है। इसकी समीक्षा आवश्यक है। उप चुनाव में स्थानीय मुद्दे हावी होते हैं।'

योगी ने कहा कि बीएसपी-एसपी की राजनीतिक सौदेबाजी देश के विकास को बाधित करने के लिए बनी है। इसके बारे में हम अपनी रणनीति तैयार करेंगे। वहीं फूलपुर के पूर्व सांसद और प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा, 'हमें उम्मीद नहीं थी कि बसपा का वोट इस तरह से सपा की तरफ ट्रांसफर हो जाएगा। आखिरी नतीजे आने के बाद हम विश्लेषण करेंगे और हम ऐसी परिस्थितियों के लिए भी तैयारी करेंगे, जबकि सपा-बसपा और कांग्रेस साथ मिलकर लड़ सकते हैं।

ध्यान रहे कि सपा ने गोरखपुर और फूलपुर लोकसभा उपचुनाव में शानदार प्रदर्शन किया है। समाजवादी पार्टी के नगेंद्र प्रताप सिंह पटेल ने भाजपा के कौशलेंद्र सिंह पटेल को 59,460 वोट से हराकर फूलपुर लोकसभा उपचुनाव जीत लिया है। जबकि गोरखपुर में भी सपा ने निर्णायक बढ़त बना ली है। गोरखपुर और फूलपुर उपचुनाव के लिये मतदान गत 11 मार्च को हुआ था। गोरखपुर सीट मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के और फूलपुर सीट उप मुख्यमंत्री केशव मौर्य के विधान परिषद की सदस्यता ग्रहण करने के बाद दिए गए त्यागपत्र के कारण खाली हुई हैं।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *