इलेक्शन मोड में बीजेपी

-जेटली गुजरात के चुनाव प्रभारी
-बीजेपी ने कर्नाटक और हिमाचल में किए चुनाव प्रभारी नियुक्त

भारतीय जनता पार्टी हाईटेक इलेक्शन मोड में आ गई है। पार्टी ने अपने चुनावी अभियान को तेज़ करते हुए तीन राज्यों में चुनाव प्रभारियों की नियुक्ति की है। यह नियुक्तियां मुख्यत: उन राज्यों में की गईं हैं जहां इस वर्ष के अंत तक विधानसभा चुनाव होने हैं। गुजरात, हिमाचल प्रदेश और कर्नाटक में इस वर्ष चुनाव होने हैं। इसके तहत केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर को कर्नाटक का चुनाव प्रभारी व पीयूष गोयल को सह प्रभारी, वित्त मंत्री अरुण जेटली को गुजरात का चुनाव प्रभारी व निर्मला सीतारमण, नरेंद्र सिंह तोमर, पी पी चौधरी, जितेंद्र सिंह को सहप्रभारी, केंद्रीय मंत्री थावरचंद गहलोत को हिमाचल का चुनाव प्रभारी बनाया गया है। जेटली और जावड़ेकर पहले भी विभिन्न राज्यों के विधानसभा चुनावों के लिए पार्टी के प्रभारी रहे है। गुजरात विधानसभा की कार्य अवधि 22 जनवरी, 2018 तक है। कर्नाटक विधानसभा की कार्य अवधि 28 मई, 2018 को समाप्त होगी।

तीन चुनावी राज्यों जिनमें चुनाव प्रभारियों की नियुक्ति की गई है उनमें से गुजरात में 15 वर्ष से भाजपा की सरकार है जबकि दो राज्यों कर्नाटक और हिमाचल में पार्टी विपक्ष की भूमिका में है।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सेंटर में आने के बाद गुजरात में यह पहला विधानसभा चुनाव होगा। इसलिए अमित शाह ने सबसे भरोसेमंद व्याक्तिग अरुण जेटली को गुजरात का प्रभारी बनाया है। गुजरात में भाजपा 2001 से सत्ताज में है। गुजरात विधानसभा चुनाव में बीजेपी के लिए सिर्फ कांग्रेस की ही चुनौती बची है। गुजरात में बीजेपी को कुछ जगहों पर टक्कर देने वाला जनता दल (यू) एनडीए में शामिल हो गया है जबकि बसपा पूरे देश में अस्तित्व के संकट से जूझ रही है। हालांकि गुजरात के कुछ हिस्सोंअ जैसे दीव नगर पालिका परिषद के चुनाव परिणाम ने बीजेपी खेमे कुछ हलचल जरूर मचा दी है, जहां जुलाई में आए नतीजों में कांग्रेस ने बड़ी जीत दर्ज करते हुए 13 में से 10 सीटों पर कब्जा जमाया था।

आगामी विधानसभा चुनाव में भाजपा गुजरात में अपनी सत्ता को बरकरार रखने के साथ ही हिमाचल और कर्नाटक को भी 'कांग्रेस-मुक्त' बनाना चाहेगी| ये सारी तैयारी उसी लक्ष्य को देखते हुए की जा रही है। इन प्रभारियों पर ही अब निर्भर करेगा कि पार्टी चुनाव में अपना शानदार प्रदर्शन करने के लिए क्या-क्या कदम उठाएगी।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *