बिहार की सियासत में खूब चला दलित रंग!

बिहार में लालू के बिना होली फीकी रही, रंग-गुलाल तो खूब उड़े पर सियासत चटक रंग भी फीका रहा। लालू तो लोगों को जोड़ते थे पर इस बार जोड़ नहीं तोड़ की राजनीति ज्यादा चली। कहा जा सकता है कि दलित रंग खूब चला, जहां एक ओर सत्ताधारी दल जदयू ने कांग्रेस से नाराज चल रहे अशोक चौधरी को झटक लिया तो वहीं जदयू अध्यक्ष नीतीश कुमार से सीधे तौर पर अदावत कर चुके पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी को राजद अपने खेमे में लाने में सफल रहा।

बिहार में सियासतदानों की होली खूब एंटरटेनिंग रही, हिंदुस्तान आवाम मोर्चा के अध्यक्ष जीतनराम मांझी के राजद के साथ जाने के बाद नाराज पूर्व मंत्री नरेंद्र सिंह ने हिंदुस्तान आवाम मोर्चा (हम) सेक्युलर पर दावा ठोक दिया है। श्री सिंह ने जीतनराम मांझी पर आरोप लगाया है कि पुत्र मोह में उन्होंने नेताओं-कार्यकर्ताओं से बिना विमर्श किए महागठबंधन का दामन थाम लिया। श्री सिंह ने दावा किया कि असली हम सेक्युलर अभी भी एनडीए के साथ है।

इन सब के बीच बिहार में 6 राज्यसभा सीटों, सहित लोकसभा की एक और विधानसभा की दो सीटों के उपचुनाव को लेकर सियासी सरगर्मी पहले से ही तेज हो चुकी है। कहा जा रहा है कि सूबे में सबसे बड़ी पार्टी के सुप्रीमो जेल से ही प्रदेश की गतिविधियों पर नजर बनाए हुए हैं।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *